पुणे/तिरुवनंतपुरम/अमरावती: सेना के एक सर्वोच्च कमांडर ने सोमवार को कहा कि सेना को ऐसी खुफिया सूचना मिली है कि देश के दक्षिणी हिस्से में आतंकी हमला किया जा सकता है. सेना की दक्षिणी कमान के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल एस के सैनी ने यहां एक कार्यक्रम में संवाददाताओं को बताया कि सरक्रीक इलाके में कुछ परित्यक्त नावें मिली हैं. उन्होंने कहा, “हमें कई खुफिया? सूचना मिली हैं कि भारत के दक्षिणी और प्रायद्वीपीय इलाके में आतंकी हमला हो सकता है.”

लेफ्टिनेंट जनरल सैनी ने कहा कि बढ़े हुए खतरे की आशंका को देखते हुए सरक्रीक इलाके में सेना ने क्षमता निर्माण एवं क्षमता विकास के कई उपाय किये हैं. वह आतंक संबंधित खुफिया सूचना और पाकिस्तान द्वारा सरक्रीक इलाके के निकट बलों की तैनाती बढ़ाए जाने के संबंध में एक सवाल का जवाब दे रहे थे. उन्होंने कहा, “हम ऐहतियाती उपाय कर रहे हैं जिससे देश विरोधी तत्वों या आतंकवादियों के किसी भी मंसूबे को नाकाम किया जा सके….”

‘ट्रक’ लेकर कश्मीर आने के लिए LOC पार करने की योजना रहे 75 पाकिस्तानी डॉक्टर, जानिए क्या है मकसद

बदलते परिदृश्य और पड़ोसी राष्ट्र से उपजे खतरे के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर के मामले में आंतरिक परिदृश्य के बजाय बाहरी आयाम की ज्यादा चर्चा होती है. हमारी एक बेहद स्पष्ट नीति है जिसके आधार पर हमनें उग्रवाद का समाधान कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि जहां तक जम्मू कश्मीर में पैदा होने वाले हालात का सवाल है, सेना हर परिस्थिति के लिये “पूरी तरह तैयार” है. दक्षिणी राज्य में आतंकी हमलों की आशंका के मद्देनजर तिरुवनंतपुरम में केरल के पुलिस प्रमुख लोकनाथ बेहरा ने सभी जिला पुलिस प्रमुखों से अति सतर्कता बरतने को कहा है.

डीजीपी बेहरा ने बस अड्डों, रेलवे स्टेशनों, हवाईअड्डों और लोगों के इकट्ठा होने वाली जगहों पर कड़ी सुरक्षा बरतने के निर्देश दिये हैं. चेन्नई में एक रक्षा प्रवक्ता ने कहा कि सेना की दक्षिणी कमान के सबसे उत्तरी छोर में गुजरात का भी कुछ हिस्सा आता है. उन्होंने कहा, “दक्षिणी कमान के जीओसी का बयान सिर्फ तमिलनाडु, केरल,आंध्र प्रदेश और कर्नाटक के लिये नहीं है. इसमें पूरा दक्षिणी प्रायद्वीप और गुजरात का कुछ इलाका शामिल है.” पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि आंध्र प्रदेश में 974 किलोमीटर लंबी तटरेखा पर आतंकी हमले की आशंका के मद्देनजर सुरक्षा बढ़ा दी गई है. राज्य के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून-व्यवस्था) रविशंकर अय्यनार ने पीटीआई-भाषा को बताया कि खास तौर पर तिरुमाला में भगवान वेंकटेश्वर के मंदिर और श्रीहरिकोटा में सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र की सुरक्षा बढ़ाई गई है.