नई दिल्ली: आतंकी हमले की आशंका के चलते दिल्ली पुलिस ने बुधवार देर रात अलर्ट जारी किया है. पुलिस को कुछ कश्मीरी विद्रोहियों के बारे में खुफिया जानकारी मिली है जो त्योहार के मौसम में आतंकी हमले को अंजाम देने के लिए शहर पहुंचे हैं. टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट्स के मुताबिक बुधवार रात शहर के नौ स्थानों पर छापे मारे गए. इन छापेमारी कम से कम दो संदिग्धों को हिरासत में लिया गया. माना यह जा रहा है कि जैश-ए-मोहम्मद पिछले हफ्ते शहर में फिदायीन का एक समूह को भेजने में कामयाब रहा है. पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद जवाबी कार्रवाई करने की धमकी दे रहा है.

सऊदी अरब के प्रिंस ने डोभाल से कहा- कश्मीर पर भारत के फैसले को हम बखूबी समझते हैं

बता दें कि सुरक्षा एजेंसियों द्वारा पिछले कुछ समय से लगातार अलर्ट जारी किए जा रहे हैं. दिल्ली में ताजा अलर्ट उसी संबंध में है. कुछ दिनों पहले एक विदेशी खुफिया एजेंसी ने एक जैश-ए-मोहम्मद ऑपरेटिव और उसके हैंडलर के बीच बातचीत को इंटरसेप्ट किया था. विदेशी खुफिया एजेंसी के अनुसार JeM सितंबर में भारत में आतंकी हमले की योजना बना रहा था. जम्मू, अमृतसर, पठानकोट, जयपुर, गांधीनगर, कानपुर के साथ-साथ लखनऊ सहित कुल 30 शहरों को हाई अलर्ट पर रखा गया. खबरों के मुताबिक पीएम मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और एनएसए अजीत डोभाल इन आतंकियों के संभावित लक्ष्य थे.

70 साल चली कानूनी लड़ाई में पाकिस्तान की करारी शिकस्त, भारत के पक्ष में आया फैसला

गौरतलब है कि अमेरिका ने भी पाकिस्तानी आतंकवादियों द्वारा भारत पर आतंकी हमले की आशंका जताई है. कई देशों को चिंता है कि पाकिस्तानी आतंकवादी जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा दिए जाने वाली धारा 370 के उन्मूलन के मद्देनजर भारत में हमले शुरू कर सकते हैं. इंडो-पैसिफिक सिक्योरिटी अफेयर्स के रक्षा सचिव, रान्डेल श्रीवर ने भी हाल ही में यह अलर्ट जारी किया है. उन्होंने ये भी कहा कि अगर पाकिस्तान चाहे तो इन आतंकियों को रोक सकता है.