जम्मू: जम्मू-कश्मीर पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने शनिवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों में कमी आई है, लेकिन मादक पदार्थों के सेवन के मामले बढ़े हैं. सिंह ने कहा, “…जब पंजाब में आतंकवाद की जड़ें कमजोर हो रही थीं तो पाकिस्तान ने वहां बड़ी मात्रा में मादक पदार्थ भेजना शुरू कर दिया. जो वहां हुआ वहीं जम्मू-कश्मीर में दोहराया जा रहा है. पाकिस्तान हमारे युवाओं का जीवन बर्बाद करने के लिए वही तरीका अपना रहा है.” सरकार द्वारा आयोजित “एनडीपीएस, बलात्कार / पॉक्सो और सीसीटीएनएस के मामलों की जांच” शीर्षक कार्यशाला को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कश्मीर में नशा करने संबंधी मामले तेजी से बढ़े हैं. Also Read - सात महीने की हिरासत के बाद रिहा होंगे उमर अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर सरकार ने जारी किए आदेश

बता दें कि पुलवामा जिले के त्राल में 19 फरवरी की सुबह से आतंकवादियों और सुरक्षा बलों के बीच जारी मुठभेड़ के बाद तीन आतंकवादी मारे गए थे. इलाके में छिपे आतंकवादियों की तलाश के लिए एक कॉर्डन ऑपरेशन चलाया गया था. जारी इस ऑपरेशन के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी की जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई. Also Read - फारूक अब्दुल्ला ने PM मोदी को लिखा पत्र, 4G इंटरनेट सेवाओं को बहाल करने की मांग

मुठभेड़ की पुष्टि करते हुए कश्मीर जोन पुलिस ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि अवंतीपोरा पुलिस ने त्राल में एक मुठभेड़ में 3 आतंकवादियों को मार गिराया. आगे की जानकारी के लिए बने रहें. आतंकियों के शव बरामद किए जा रहे हैं जबकि तलाशी अभियान अभी भी जारी है. Also Read - SC ने केंद्र और जम्मू कश्मीर प्रशासन से पूछा- क्या अगले हफ्ते उमर अब्दुल्ला रिहा हो रहे हैं..?

बता दें कि पुलवामा जिले के त्राल में सेना, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इस क्षेत्र में सर्च अभियान चला रखा था. मुठभेड़ में मारे गए तीनों आतंकवादियों की पहचान जंजीर रफीक वानी, राजा उमर मकबूल भट और उजैर अमीन भट के रूप में की गई है. मारे गए ये सभी तीनों आतंकवादी आतंकी संगठन ‘अंसार गज़वा उल हिंद’ के हैं.

 

इनपुट-एजेंसी