नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस ने 2016 में दर्ज देशद्रोह के मामले में जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के खिलाफ सोमवार को आरोपपत्र दायर किया. मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट सुमीत आनंद ने मंगलवार को विचार के लिए अदालत के समक्ष आरोपपत्र पेश किया. दिल्ली पुलिस ने जेएनयू परिसर में नौ फरवरी 2016 के एक कार्यक्रम से जुड़े देशद्रोह के मामले में संस्थान के पूर्व छात्रों उमर खालिद, अनिर्बान भट्टाचार्य के खिलाफ आरोपपत्र दाखिल किया.

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, 1200 पेज के चार्जशीट में आईपीसी की धारा 124ए (देशद्रोह), 323 (जानबूझकर नुकसान पहुंचाना), 465 (धोखाधड़ी), 471 (गलत दस्तावेज पेश करना), 143, 149, 147 और 120बी के अतंर्गत चार्जशीट को फाइल किया गया है. इस चार्जशीट में कन्हैया कुमार, उमर खालिद, अनिर्बन भट्टाचार्य, आकिब हसन, मुजीब हुसैन, मुनीब हुसैन, उमर गुल, रायीया रसूल, बसीर भट्ट, शेहल रशीद और डीएमके नेता डी राजा की बेटी अपराजिता सहित कई छात्रों के नाम हैं.

साल 2016 का है मामला
बता दें कि कन्हैया, उमर खालिद और अनिर्बान को जेएनयू परिसर में कथित रूप से संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरू को फांसी पर लटकाए जाने के विरोध में कथित रुप से कार्यक्रम करने को लेकर साल 2016 में देशद्रोह के मामले में गिरफ्तार किया गया था. उनकी गिरफ्तारी से बड़ा विवाद खड़ा हो गया था. विपक्ष ने पुलिस पर सत्तारुढ़ भाजपा की शह पर काम करने का आरोप लगाया था.