दिल्‍ली: देश की राजधानी में दिल्‍ली में कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू लॉकडॉउन का चौथ चरण शुरू कर दिया गया है. इसी के साथ आज सोमवार को दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने लॉकडॉउन 4.0 में नई छूटों का ऐलान कर दिया. लेकिन बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने दिल्‍ली सरकार के कदम पर ऐतराज जताते हुए कहा कि यह डेथ वारंट जैसा है.Also Read - Coronavirus cases In India: 3 लाख से कम हुए कोरोना के एक्टिव मामले, 24 घंटे में 26,041 लोग हुए संक्रमित

बीजेपी सांसद गौतम गंभीर ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘लगभग सभी चीजों को एक साथ खोल देने का फैसला दिल्लीवालों के लिए डेथ वारंट की तरह है. मैं दिल्ली सरकार से बार-बार सोचने का आग्रह करता हूं! एक गलत कदम और सब कुछ खत्म हो जाएगा!!” Also Read - CSK vs KKR: मैदान पर हुई ऐसी हरकत, नाराज Gautam Gambhir बोले- मैं होता तो तुरंत कप्‍तानी छोड़ देता

Also Read - IPL 2021: प्लेऑफ में क्वॉलीफाई करने के बाद नंबर 4 पर खेलें MS Dhoni: Gautam Gambhir

बता दें कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को बाजारों में सम-विषम आधार पर दुकानें खोलने और केवल 20 यात्रियों के साथ बसों का संचालन करने की घोषणा की. साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली में मेट्रो ट्रेन, कॉलेज, शॉपिंग मॉल और स्विमिंग पूल बंद रहेंगे. सीएम केजरीवाल ने कहा, ”हमें धीरे-धीरे अर्थव्यवस्था को खोलने की दिशा में आगे बढ़ना होगा. हमने लॉकडाउन की अवधि का उपयोग कोविड-19 से निपटने की व्यवस्था करने में किया.”

दिल्‍ली में लॉकडॉउन4.0 के तहत इन चीजों की छूट दी गई
– सीएम केजरीवाल बाजारों में सम-विषम आधार पर दुकानें खोलने और केवल 20 यात्रियों के साथ बसों का संचालन करने की घोषणा की
-दिल्ली में मेट्रो ट्रेन, कॉलेज, शॉपिंग मॉल और स्विमिंग पूल बंद रहेंगे
– शहर में बसों में चढ़ने से पहले लोगों की जांच की जाएगी
– टैक्सी समेत सभी चार पहिया वाहनों में केवल दो यात्रियों को बैठाने की अनुमति होगी
– दो पहिया वाहनों को अनुमति दी जाएगी, लेकिन पीछे की सीट पर किसी को बैठाकर यात्रा करना प्रतिबंधित होगा
– दिल्ली में भवन निर्माण कार्य और सामान ले जाने वाले ट्रकों को आवाजाही की अनुमति होगी.
– दिल्ली में 31 मई तक धार्मिक सभाओं पर रोक है
– साथ ही रेस्तरां होम-डिलीवरी के लिए खुल सकते हैं, लेकिन रेस्तरां में डाइनिंग सेवा की अनुमति नहीं होगी
– विवाह समारोह में केवल 50 लोग शामिल हो सकते हैं
– अंतिम संस्कार में अधिकतम 20 लोग शामिल हो सकते हैं
केंद्र सरकार ने रविवार को कोरोना वायरस के कारण लागू लॉकडाउन में थोड़ी और ढील देते हुए इसे 31 मई तक बढ़ा दिया.