आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चुनाव आयोग ने नोटिस दिया है। चुनाव आयोग ने केजरीवाल को नोटिस जारी कर 19 जनवरी से पहले आयोग के सामने पेश होने का आदेश दिया। केजरीवाल पर आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगा है आयोग ने नोट के बदले वोट वाले बयान को गंभीरता से लेते हुए आयोग ने कहा है कि गोवा प्रशासन की ओर से उन्हें एक शिकायत और सीडी मिली है।

इसमें कहा गया है कि गोवा में आठ जनवरी को एक सभा के दौरान उन्होंने जानबूझकर लोगों से ‘रिश्वत’ लेने की बात कही। इस बारे में राजनीतिक दलों की ओर से भी शिकायत की गई है। यह भी पढ़ें: RTI कार्यकर्ता का दावा, एक्सीस बैंक के ब्लैकमनी को व्हाइट करने के गोरखधंधे में CM केजरीवाल !

आयोग इस मामले की गंभीरता से जांच कर रहा है। शिकायत में केजरीवाल के बयान की कॉपी और उनके भाषण का सीडी भी सौंपी गयी है। जिसमें केजरीवाल ने कहा था कि ‘चुनाव के समय बीजेपी वाले आएंगे, कांग्रेस वाले आएंगे और पैसा लेकर आएंगे।

मैंने सुना है पैसे बांटना चालू हो गया है। पैसे लेकर आएंगे तो मना मत करना’ ‘ले लेना सबसे पैसा, मना मत करना, अपना ही पैसा लूट रखा है इतने सालों से नए नोट लेना, पुराने वाले नोट मत लेना, पांच हजार लेकर आंए तो कह देना कि महंगाई बढ़ गई है और 10 हजार लेना, पैसे सबसे लेंगे लेकिन, बोट झाड़ू को पड़ेगा।’