नई दिल्ली. गुरुवार को चुनाव आयोग मेघालय, त्रिपुरा और नगालैंड में चुनावी तारीखों का ऐलान करने जा रहा है. चुनाव आयोग ने अधिकारियों के साथ बैठक से लेकर राजनीतिक प्रतिनिधि‍यों से सलाह मशविरे काम दौर पूरा कर लिया है. इसके बाद ही वह गुरुवार को चुनाव तारीखों का ऐलान कर रहा है. गुरुवार को दोपहर 12 बजे चुनाव आयोग प्रेस कॉन्फ्रेंस करेगा.

कांग्रेस को बड़ा झटका, मेघालय विधानसभा से 5 विधायकों का इस्तीफा

कांग्रेस को बड़ा झटका, मेघालय विधानसभा से 5 विधायकों का इस्तीफा

Also Read - पंजाब के स्टेट आइकॉन चुने गए 'मजदूरों के मसीहा' सोनू सूद, जताई ख़ुशी

Also Read - Bihar Chunav Result 2020 Live Updates: रुझानों ने बदली तस्वीर, एनडीए को बड़ा बहुमत, RJD में छाए संकट के बादल

प्रत्येक राज्य (त्रिपुरा, मेघालय और नागालैंड) में 60-60 विधानसभा सीटें हैं. वहीं, इन तीनों राज्यों का विधानसभा कार्यकाल मार्च में खत्म हो रहा है. ऐसे में फरवरी में चुनाव होने की संभावना है. राजनीतिक दृष्टि से ये 3 राज्य भले ही बेहद अहम न हों लेकिन देश के वर्तमान हालात ने हर चुनाव को बड़ा बना दिया है. Also Read - Bihar Election Result Live: बिहार में शुरुआती रुझानों में जानें कौन सी पार्टी कहां है आगे

नागालैंड में नागाल पीपल्स फ्रंट की सत्ता है. इस सरकार को बीजेपी का समर्थन प्राप्त है. वहीं, मेघालय में कांग्रेस की सरकार है और त्रिपुरा में सीपीएम की अगुवाई वाला वाममोर्चा राज्य में 1993 से सत्ता में है. हाल में, कांग्रेस के अध्यक्ष बने राहुल गांधी के लिए ये चुनाव चुनौती के तौर पर है. मेघालय में बीजेपी अपनी पकड़ मजबूत करने में लगी है. साथ ही त्रिपुरा में इंडिजिनियस पीपुल्स फ्रंट ऑफ त्रिपुरा (आईपीएफटी) बीजेपी के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ सकती है.

दरअसल, बीजेपी किसी भी चुनाव को कम मानकर चलने की सोच को पीछे छोड़ चुकी है. पार्टी हर राज्य में सत्ता हासिल करने की सोच लेकर चुनाव में आगे बढ़ रही है.

कांग्रेस को चुनाव से पहले झटका

शरद पवार की राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) ने चुनाव तारीखों के ऐलान से पहले ही घोषणा की है कि आगामी राज्य विधानसभा चुनाव वह अकेले लड़ेगी और कम से कम 42 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेगी. एनसीपी के महासचिव प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि कुछ सीटों पर पार्टी का क्षेत्रीय दलों के साथ चुनावी गठबंधन हो सकता है. उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक आने पर स्थिति और स्पष्ट होगी. 

क्या बीजेपी की बैठक में शामिल हुए थे अजीत डोभाल?

क्या बीजेपी की बैठक में शामिल हुए थे अजीत डोभाल?

एनसीपी मेघालय में पिछले पांच वर्षों से कांग्रेस नीत प्रगतिशील गठबंधन का समर्थन कर रही है. पटेल ने मुख्यमंत्री मुकुल संगमा पर सरकार में एनसीपी को उचित प्रतिनिधित्व नहीं देने के लिए आलोचना की. पटेल द्वारा एक बैठक की अध्यक्षता करने के बाद एनसीपी ने मेघालय और दो अन्य राज्यों नगालैंड और त्रिपुरा के लिए अपनी चुनावी योजनाओं का खुलासा किया.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘हम मेघालय के गारो हिल्स क्षेत्र में 24 में से 22 सीटों पर चुनाव लड़ने जा रहे हैं और खासी हिल्स में कम से कम 20 सीटों पर चुनाव लड़ेंगे.’ 60 सदस्यीय मेघालय विधानसभा में 2013 के चुनावों के बाद एनसीपी के दो विधायक थे. सदन से सनोबर सुलैस के इस्तीफे के बाद पार्टी के एकमात्र विधायक एम ए संगमा बचे हैं.

पटेल ने कहा कि नगालैंड में पार्टी कम सीटों पर चुनाव लड़ेगी लेकिन उन्होंने सीटों की संख्या नहीं बताई. उन्होंने कहा, ‘नगालैंड में पहले हमारे चार विधायक थे.’ एनसीपी नेता ने कहा कि त्रिपुरा में ‘सांकेतिक’ तौर पर कुछ सीटों पर चुनाव लड़ने के अलावा पार्टी वहां से चुनाव नहीं लड़ेगी.

(पीटीआई से प्राप्त जानकारी के साथ)