नई दिल्ली: पुलिस ने एक ऐसे शख्स को गिरफ्तार किया है, जो ढाई करोड़ रुपये में दिल्ली विधानसभा के मौजूदा अध्यक्ष राम निवास गोयल को ही टिकट दिलाने उनके घर पहुंच गया. मामला संदिग्ध होने पर आरोपी को पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया गया. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.

विधानसभा अध्यक्ष के पुत्र सुमित गोयल ने शनिवार को बताया कि बुधवार को दोपहर के वक्त मैं विवेक विहार वाले मकान/दफ्तर में बैठा था. उसी वक्त 20-22 साल का एक युवक मेरे कार्यालय पहुंचा. सुमित के मुताबिक मैंने उस युवक को पहली बार देखा था. मैंने उससे कार्यालय पर आने का मकसद पूछा. वह बोला तुम्हारे पिता (दिल्ली विधानसभा के मौजूदा अध्यक्ष राम निवास गोयल) आने वाले विधानसभा चुनाव में दिल्ली की गांधी नगर सीट से टिकट चाह रहे थे. उनका वह टिकट पार्टी ने काट दिया है. अब तुम्हारे पिता का टिकट मैं ढाई करोड़ रुपये में पक्का करवा सकता हूं.

सुमित गोयल ने आगे कहा कि अजनबी युवक की बातों पर मुझे संदेह हुआ. मैंने उससे कहा कि मेरे पिता जी न तो गांधी नगर विधानसभा से टिकट चाहते हैं, न ही उनके गांधी नगर विधानसभा से टिकट के कटने की कोई खबर हमारे परिवार को है. इसके बाद भी युवक इस बात पर अड़ गया कि गांधी नगर विस सीट से टिकट पक्का समझो. मुझे 50 लाख रुपये अभी दे दो. बाकी बाद में दे देना. सुमित गोयल ने कहा कि टिकट के बाबत सबकुछ मना करने के बाद भी युवक 50 लाख रुपये की डिमांड पर अड़ा रहा. जब मैंने उसे जाने को कहा तो वह पिता और मेरे परिवार को बदनाम करने की घुड़की देने लगा. मैंने युवक को पकड़ कर विवेक विहार पुलिस के हवाले कर दिया. फिलहाल आगे की कानूनी कार्रवाई पुलिस कर रही है.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक गिरफ्तार ठग का नाम विशाल सागर (22) है. आरोपी दिल्ली के ही वसंत विहार इलाके का रहने वाला है. अभी तक यह खुलासा नहीं हो सका है कि आखिर संदिग्ध सीधे विधानसभा अध्यक्ष के घर और उनके दफ्तर पर ही क्यों और किसके जरिए पहुंचा था?