पुरी: ओडिशा के मंदिरों के शहर पुरी में सोमवार को एक पुलिस क्वार्टर में एक पुलिसकर्मी सहित दो व्यक्तियों ने एक महिला के साथ कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार किया. पुलिस ने बताया कि महिला की शिकायत के अनुसार वह नीमपाड़ा शहर में एक बस अड्डे पर खड़ी थी तभी खुद को पुलिसकर्मी बताने वाले एक व्यक्ति ने उसे कार से उसके गंतव्य तक छोड़ने का प्रस्ताव दिया. महिला ने कुंभारपाड़ा पुलिस थाने के बाहर संवाददाताओं से कहा, “मैं भुवनेश्वर से अपने गांव काकटपुर जा रही थी. मैंने उस पर विश्वास किया और उससे लिफ्ट ले ली.”

महिला के कहा कि कार में बैठते ही उसे तीन अन्य लोग कार में बैठे मिले. पीड़िता ने बताया,”वे लोग मुझे काकटपुर ले जाने के बजाय पुरी ले गए. वहां एक घर में दो लोगों ने मेरा बलात्कार किया जबकि दो अन्य बाहर से दरवाजा बंद कर के चले गए.” पुरी शहर में झाड़ेश्वरी क्लब के पास स्थित पुलिस क्वार्टर में पीड़िता का कथित बलात्कार किया गया.

यौन उत्पीड़न पर एनएचआरसी सख्त, केंद्र-राज्यों से मांगी निर्भया फंड के इस्तेमाल की जानकारी

पुलिस ने बताया कि घटना के दौरान पीड़िता ने एक आरोपी का बटुआ ले लिया था जिससे एक आरोपी का फोटो-पहचान पत्र और आधार कार्ड बरामद किया गया है. उसकी मदद से पुलिस ने एक आरोपी की पहचान कर ली है. पुलिस अधिकारी ने बताया कि पहचाना गया आरोपी पुलिस कांस्टेबल है और उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. उसे सेवा से निलंबित कर दिया गया है.

पुरी पुलिस अधीक्षक उमा शंकर दास ने कहा कि अन्य आरोपियों को पकड़ने का प्रयास जारी हैं. उन्होंने बताया कि इस घटना की जांच के लिए दो विशेष दस्ते बनाए गए हैं. पीड़िता और आरोपी कांस्टेबल को चिकित्सकीय जांच के लिए भेजा गया है.