पलवल: हरियाणा पुलिस ने बलात्कार की एक पीड़िता की शिकायत कथित तौर पर दर्ज नहीं करने और आरोपी के साथ समझौता करने के लिए उस पर दबाव बनाने के मामले में एक महिला सब इंस्पेक्टर सहित दो पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है.

विभागीय जांच के आदेश
यह जानकारी पलवल के पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने गुरूवार को दी. निलंबित किए गए दो पुलिस कर्मचारी एसएचओ संतोष कुमार और एसआई अंजू देवी हैं. एसपी ने बताया, ‘उनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू कर दी गई है. एक शिकायत दर्ज कर उसके आधार पर तीन अन्य लोगों के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया है.’

क्राइम की राजधानी: बेखौफ बदमाश, दो सगे भाइयों को लाठी-डंडे से पीटने के बाद गोली से उड़ाया

अपनी शिकायत में 34 वर्षीय महिला ने कहा कि 16 सितंबर को वह अपने बच्चों के लिए स्कूल का बैग खरीदने एक दुकान पर गई थी. दुकान में एक सेल्समेन ने उसे सामान चुनने के लिए बेसमेंट में जाने को कहा. पुलिस ने बताया कि जब वह बेसमेंट में पहुंची, तो आरोपी ने उसे पकड़ा और उसका यौन उत्पीड़न किया. उन्होंने बताया कि बाद में महिला ने इस घटना में कथित तौर पर शामिल तीन और लोगों का भी  नाम लिया है.

किशोरी व उसकी मां से रेप, पुलिसकर्मियों समेत 18 के खिलाफ केस दर्ज

एसपी ने बताया कि महिला जब थाने पहुंची तब एसएचओ ने उसकी शिकायत दर्ज करने से कथित तौर पर इंकार कर दिया और तीनों आरोपियों से समझौता करने के लिए उस पर दबाव डाला. अकरम के अनुसार, एसएचओ ने उसे महिला पुलिस थाने भेजा जहां एसआई अंजू देवी ने भी उसे शिकायत दर्ज कराने से रोकने का प्रयास किया. उन्होंने बताया कि मामले की जांच जारी है और बलात्कार के आरोपियों को शीघ्र ही पकड़ लिया जाएगा. (इनपुट भाषा)