गिरिडीहः झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य के करीब 24 लाख 53 हजार किसानों के बीच मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना के तहत दूसरे किश्त की 400 करोड़ रुपये से अधिक की राशि सीधे उनके खाते में दिए जाने की गिरिडीह से बुधवार को शुरूआत की. मुख्यमंत्री ने यहां एक जनसभा में किसानों के खातों में दूसरी किश्त का धन डालने का शुभारंभ किया. उन्होंने कहा कि 48 घंटे के भीतर सबके खाते में राशि चली जायेगी. दास ने कहा कि गिरिडीह जिले के एक लाख 80 हजार किसानों को आज इस योजना की द्वितीय किश्त प्राप्त हुई.

मुख्यमंत्री ने गिरिडीह जिले के लिए 300 करोड़ 99 लाख 93 हजार 343 रुपये की योजनाओं का उद्घाटन, शिलान्यास और परिसंपत्तियों का वितरण भी किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद से ही कृषि प्रधान देश भारत में पश्चिमी औद्योगिकीकरण को थोप दिया गया. किसानों की सुध किसी ने नहीं ली.

किसान आत्महत्या को मजबूर हुए. उन्होंने कहा कि किसानों की क्रय शक्ति को बढ़ाने और उनकी आय को दोगुना करने के लिए 2014 के बाद केंद्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना प्रारंभ की गई, जिसके तहत देशभर के किसानों को अगले 10 वर्ष तक कृषि कार्य हेतु प्रति वर्ष छह हजार रुपये प्रदान किए जाएंगे.

दास ने कहा, ‘‘केंद्र सरकार की योजना से प्रभावित होकर और किसानों को दोगुना फायदा देने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने भी मुख्यमंत्री कृषि आशीर्वाद योजना का शुभारंभ किया. इस योजना के तहत आज आपको द्वितीय किश्त की 25 प्रतिशत राशि दी जा रही है. आने वाले दिनों में तीसरी किश्त भी आपको प्राप्त होगी. ’’ उन्होंने बताया कि सरकार ने झारखंड के 35 लाख किसानों के खातों में तीन हजार करोड़ रुपए देने का लक्ष्य तय किया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार ने 2022 तक किसानों की आय को दुगना करने और उनकी क्रय शक्ति बढ़ाने का लक्ष्य तय किया है. किसानों को योजना के तहत मिली राशि उन्हें कृषि संसाधन जुटाने में सहायक होगी.