शाहजहांपुर: स्वामी चिन्मयानंद मामले में शनिवार को यहां की एक अदालत ने चिन्मयानंद तथा पीड़िता समेत पांच आरोपियों की आवाज का नमूना लेने की अनुमति विशेष जांच दल (एसआईटी) को दे दी है.

पीड़िता के अधिवक्ता अनूप त्रिवेदी ने बताया कि एसआईटी ने स्वामी चिन्मयानंद तथा रंगदारी मांगने की आरोपी बनाई गई पीड़िता और जेल में बंद उसके तीन साथियों के आवाज के नमूने लेने की अनुमति मांगी थी.

रेप के आरोपी चिन्मयानंद KGMU लखनऊ रेफर, लेकिन आयुर्वेद से इलाज कराने का हवाला देकर आश्रम लौटे

उन्होंने बताया कि इसी मामले में आज मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट ओमवीर सिंह ने एसआईटी को इस प्रकरण में सभी आरोपियों के आवाज के नमूने लेने की अनुमति प्रदान की है. नमूना एकत्र करने के लिए आरोपियों को लखनऊ स्थित विधि प्रयोगशाला ले जाया जाएगा. उधर भाजपा नेता एवं पूर्व विधान पार्षद जयेश प्रसाद ने एक पत्रकार वार्ता में आरोप लगाया कि चिन्मयानंद के मामले में कांग्रेस अपनी रोटियां सेक रही है.

गौरतलब है कि पूर्व केंद्रीय गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद के कॉलेज में पढ़ने वाली कानून की एक छात्रा ने वीडियो वायरल करके स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाए थे और इसके बाद लड़की लापता हो गई और इस पूरे मामले की जांच एसआईटी को दे दी गई.

चिन्मयानंद मामला: सुप्रीम कोर्ट में पीड़ित छात्रा ने यूपी जाने से किया इंकार, दिल्ली पुलिस देगी सुरक्षा

एसआईटी ने जांच के बाद स्वामी चिन्मयानंद एवं छात्रा सहित पांच लोगों को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है. एसआईटी की जांच अभी भी चल रही है. इसी मामले में समाजवादी पार्टी एवं कांग्रेस समेत कई छोटे दल पीड़िता के पक्ष में न्याय की मांग कर रहे हैं.