नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक दिल्ली के रामलीला मैदान में शुरू हो गई है. बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी, पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी समेत भाजपा के तमाम दिग्गज नेता मौजूद हैं. राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक को संबोधित करते हुए पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने नेताओं और कार्यकर्ताओं को ‘मिशन-2019’ का स्मरण कराया. अमित शाह ने इस चुनाव को भाजपा बनाम अन्य दलों के बजाए वैचारिक चुनाव बताया. उन्होंने कहा, ‘2019 का चुनाव वैचारिक युद्ध का चुनाव है. दो विचारधाराएं आमने-सामने खड़ी हैं. 2019 का युद्ध सदियों तक असर छोड़ने वाला है और इसीलिए मैं मानता हूं कि इसे जीतना बहुत महत्वपूर्ण है.’ अमित शाह ने पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में आगामी लोकसभा चुनाव लड़ने की घोषणा करते हुए कहा कि पीएम मोदी जैसा लोकप्रिय नेता आज दुनिया में कोई नहीं है.

उत्तर प्रदेश में पार्टी की चुनावी रणनीति के बारे में चर्चा करते हुए अमित शाह ने कहा कि पार्टी 2014 के लोकसभा चुनाव से ज्यादा सीटें इस बार जीतेगी. उन्होंने कहा, ‘मैं उत्तर प्रदेश में कार्यरत अपने संगठन के नेताओं और कार्यकर्ताओं से लगातार संपर्क में बना हुआ हूं. मुझे पूरा भरोसा है कि इस बार के चुनाव में भाजपा उत्तर प्रदेश में 74 सीटें जीतेगी. मैं यह भी कहता हूं कि हम 72 से कम सीटों पर नहीं आएंगे. भाजपा अध्यक्ष ने अपने संबोधन के दौरान भाजपा के विरोध में विपक्षी दलों के गठबंधन पर भी जमकर हमला बोला. खासकर उत्तर प्रदेश, जहां सियासी विशेषज्ञ सपा-बसपा के गठबंधन के बाद भाजपा की कम सीटें आने का अनुमान लगा रहे हैं, के बारे में अमित शाह ने 2014 के मुकाबले ज्यादा सीटें जीतने का दावा किया. उन्होंने कहा, ‘गठबंधन ढकोसला है, उत्तर प्रदेश में भाजपा की सीट 73 से बढ़कर 74 सीटें होगी. एक-दूसरे का मुंह न देखने वाले आज हार के डर से साथ आ गए हैं, वो जानते हैं कि अकेले नरेंद्र मोदी को हराना मुमकिन नहीं है. एक जमाना था जब देश में कांग्रेस बनाम अन्य हुआ करता था, आज मोदी बनाम अन्य सभी हो गया है.’

भाजपा अध्यक्ष ने अपने संबोधन के दौरान केंद्र सरकार की योजनाओं की भी याद दिलाई. जीएसटी के बारे में उन्होंने कहा कि इससे व्यापारियों को ज्यादा मुनाफा हो रहा है. 1.5 करोड़ रुपए तक के टर्नओवर वाले वैसे व्यापारी जिन्होंने कंपोजिशन योजना का लाभ उठाया है, उन्हें आज सिर्फ एक फीसदी टैक्स चुकाना पड़ रहा है. शाह ने नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (NRC) की चर्चा करते हुए इसे असम में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार की सफलता करार दिया. उन्होंने कहा कि असम में सर्वानंद सोनेवाल की सरकार बनते ही हमने NRC की शुरुआत की. NRC देश में घुसपैठियों को चिह्नित करने की व्यवस्था है. अकेले असम में 40 लाख लोगों को प्रथमदृष्टया घुसपैठिया चिह्नित किया गया. शाह ने कहा कि पानीपत की तीसरी लड़ाई की तरह भाजपा 2019 का संग्राम भी भारी बहुमत के साथ जीतेगी. राम मंदिर निर्माण के मसले पर उन्होंने कांग्रेस को इस मामले में देरी करने के लिए जिम्मेदार ठहराया.