नई दिल्ली। बाबा गुरमीत को दोषी ठहराए जाने के बाद शुक्रवार को हरियाणा में डेरा समर्थकों ने जमकर हिंसा की. इस घटना में प्रशासन पर बड़े सवाल खड़े हो रहे हैं. अब तक 31 लोगों की मौत हो चुकी है. अब खबर है कि यौन शोषण मामले में दोषी डेरा चीफ राम रहीम को सजा सुनाने के लिए रोहतक की सोनारिया जेल में ही कोर्ट लगाई जाएगी. न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, हरियाणा और पंजाब हाईकोर्ट ने जेल में ही सभी व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए हैं. यह फैसला हरियाणा में हुई हिंसा को देखते हुए लिया गया है.

हरियाणा के मुख्य सचिव डीएस ढेसी ने कहा कि कल हिंसा में मारे गए सभी लोग डेरा समर्थक हैं. किसी भी स्थानीय व्यक्ति की मौत नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि सिरसा स्थित डेरा सच्चा सौदा के बाहर सेना की 6 टुकड़ियां तैनात हैं लेकिन परिसर में नहीं घुसी. मुख्य सचिव ने कहा कि डेरा के अंदर घुसने की फिलहाल हमारी कोई योजना भी नहीं है. प्रेस कॉन्फ्रेंस में डीजीपी बीएस संधू भी मौजूद रहे.

पत्रकारों के सवाल का जवाब देते हुए डीजीपी संधू ने कहा कि प्रशासन की तरफ से गोली चलाने में कोई देरी नहीं की गई है. हमने एक प्रोसीजर के तहत पहले आंसू गैस के गोले छोड़े. जब स्थिति नियंत्रण में नहीं आई तो गोली चलाई. पूरी सख्ती बरती गई है. उन्होंने कहा कि मैने खुद तीन घंटे तक ऑपरेशन को लीड किया है. उन्होंने बताया कि बाबा गुरमीत की जेड प्लस सिक्योरिटी छीन ली गई है.

यह भी पढ़ेंः Live: गृह सचिव बोले- डेरा हिंसा मामले में 524 गिरफ्तार, समर्थकों के पास मिली एके 47

गुरमीत के साथ उनकी गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत के हेलीकॉप्टर में साथ जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि बाबा को कोई स्पेशल ट्रीटमेंट नहीं दिया जा रहा है. उनके साथ आम कैदियों जैसा बर्ताव ही किया जा रहा है. मुख्य सचिव ने कहा हिंसा में जिनका भी नुकसान हुआ है उसकी भरपाई सरकार करेगी.

डीजीपी ने बताया कि शुक्रवार की हिंसा के बाद अभी तक 524 लोगों की गिरफ्तारी की गई है. दो लोगों के खिलाफ राष्ट्रदोह का मुकदमा दर्ज किया गया है. इसके अलावा एक-47, दो माउजर, पांच पिस्टल और रायफल भी बरामद की गई है.

डीजीपी ने बताया कि दोषी ठहराए जाने के बाद बाबा गुरमीत अपनी गाड़ी में जेल जाना चाहते थे. इस दौरान थोड़ी नोक-झोक भी हुई लेकिन उन्हें सरकारी गाड़ी में ही जेल ले जाया गया. उसके बाद सुरक्षा की वजह हेलीकॉप्टर से दूसरे जेल ले जाया गया.

इससे पहले पंजाब-हरियाणा हाई कोर्ट ने खट्टर सरकार को कड़ी फटकार लगाई. कल की हिंसा को लेकर फटकार. कोर्ट ने कहा- ऐसा लगता है कि सरकार ने सरेंडर कर दिया. सियासी फायदे के लिए शहर को जलने दिया गया.

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने आज कहा कि डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख को बलात्कार का दोषी करार दिए जाने के बाद हरियाणा में भड़की हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 31 हो गई है और स्थिति ‘‘तनावपूर्ण, लेकिन नियंत्रण में है. गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि हरियाणा स्थित पंचकूला नियंत्रण कक्ष के अनुसार, पंचकूला और सिरसा में स्थिति बेहद तनावपूर्ण, लेकिन नियंत्रण में है.’’

By Aditya Dwivedi