नई दिल्ली. #MeToo अभियान के दौरान केंद्रीय विदेश राज्यमंत्री और पूर्व पत्रकार एमजे अकबर ने अपने ऊपर लगे आरोपों के बाद इस्तीफा दे दिया. अपने ऊपर लगातार बढ़ रहे दबावों के बीच उन्होंने बुधवार की शाम को इस्तीफा दिया. बता दें कि इससे पहले लीगल एक्शन लेते हुए वह आरोप लगाने वाली महिला पत्रकार प्रिया रमानी के खिलाफ कोर्ट पहुंचे थे. अकबर के ऊपर सबसे पहले पत्रकार प्रिया रमानी ने आरोप लगाया था, जिसके आब अबतक 10 से ज्यादा महिलाएं अकबर के खिलाफ आरोप लगा चुकी हैं. आइए जानते हैं किन महिलाओं ने अकबर के खिलाफ की है शिकायत…
प्रिया रमानी
अकबर के खिलाफ सबसे पहले पत्रकार प्रिया रमानी ने ही सोशल साइट्स पर लिखा था. उन्होंने इसके लिए साल 2017 में लिखे अपने आर्टिकल का जिक्र किया था, जिसमें उन्होंने आरोपी का नाम नहीं डाला था. इस बार उन्होंने मीटू अभियान में उस लिंक को डालते हुए अकबर के नाम का जिक्र किया. Also Read - 14 साल की उम्र में शुरू की थी एक्टिंग, हर किसी की जुबां पर हैं इनके चर्चे

उन्होंने कहा, मैंने अपने इस लेख की शुरुआत मेरी एमजे अकबर स्टोरी के साथ की थी. उनका नाम कभी नहीं लिया क्योंकि उन्होंने कुछ ‘किया’ नहीं था. उन्होंने अकबर को ‘प्रेडेटर’ भी कहा. रमानी ने मंगलवार को ट्वीट कर कहा, “एक छोटी कहानी ऐसे की तरफ से जिसने उनके साथ काम किया था. एमजे अकबर कभी अवसर को नहीं चूकते थे.अनाम महिला पत्रकार की स्टोरी में अकबर का नाम तो नहीं लिया गया, लेकिन उन्हें बांबे, दिल्ली और लंदन से एकसाथ प्रकाशित होने वाले अखबार (एशियन एज) का बॉस कह कर संबोधित किया गया. Also Read - Me Too: एमजे अकबर ने आरोपों से किया इनकार, कहा- प्र‍िया रमानी के आरोप उनकी कपोल कल्पना

पत्रकार ने कहा कि उसे होटल की लॉबी में घंटों इंतजार करना पड़ा और जब वह अपनी बैठकें कर रात 9.30 बजे वापस आए तो उससे पूछा गया कि क्या वह यहां रुकना चाहती है.पत्रकार ने कहा कि ‘जब मैंने मना किया तो उन्होंने शालीनतापूर्वक मुझसे कहा कि कार्यालय की कार ले जाओ और मुझे घर भेजा. लेकिन, इस घटना के बाद मैं कभी उनके पसंद के लोगों में नहीं रही. Also Read - एमजे अकबर ने किताब में किया दावा- महात्मा गांधी 15 अगस्त 1947 पाकिस्तान में बिताना चाहते थे

बिंद्रा ने रविवार को अकबर के खिलाफ आरोप लगाए थे लेकिन उनका नाम नहीं लिया और कहा था, वह एक प्रतिभावान, चमकीले संपादक थे जो राजनीति में चले गए. आधी रात का संस्करण पूरा करने के बाद उन्होंने मुझे अपने पहले काम की चर्चा के लिए अपने होटल रूम में बुलाया था..जब मैंने मना कर दिया तो उन्होंने मेरे काम के समय मेरी जिंदगी को नरक बना दिया. कई सारी बाध्यताओं की वजह से बोल नहीं सकी. लेकिन हां, मी टू इंडिया.मंगलवार को बिंद्रा ने उनका नाम लिया और सिलसिलेवार ट्वीट किए.

गजाला वहाब
पत्रकार गजाला वहाब ने अकबर को लेकर एक खौफनाक अनुभव शेयर किया था. उन्होंने एशियन एज में अपनी नौकरी के दौरान हुए घटना का जिक्र करते हुए पूरी दास्तां सुनाई थी. ये पोस्ट वायरल हो गया था. उन्होंने डिटेल में बताया था कि किस तरह छह महीने तक अकबर ने उन्हें परेशान किया था.

कनिका गहलोत
फ्रीलांस पत्रकार कनिका गहलोत ने भी अकबर पर आरोप लगाए हैं. उन्होंने अकबर के साथ तीन साल के काम के दौरान घटिट घटनाओं का जिक्र किया था. वह भी साल 1995-1997 तक द एशियन एज में काम कर चुकी हैं. उस दौरान एमजे अकबर वहां संपादक थे.

सुपर्णा शर्मा
द एशियन एज की रेजीडेंट एडीटर सुपर्णा शर्मा ने भी अकबर को लेकर कई चीजें शेयर की हैं. उन्होंने कहा है कि वह साल 1993-96 के दौरान अखबार की लांच टीम का हिस्‍सा थीं तो एक दिन अकबर एकदम पीछे आकर खड़े हो गए. उन्‍होंने मेरे साथ अश्लीलता करते हुए कुछ कहा था. हालांकि उन्होंने ये जरूर कहा कि अकबर ने उस समय जो कहा था वह याद नहीं है.

शुमा राहा
लेखिका शुमा राहा ने भी साल 1995 का वाक्या शेयर किया है. इसमें भी उन्होंने एक जॉब इंटरव्‍यू का हवाला दिया जो कोलकाता के ताज बंगाल होटल में हुआ था. उन्होंने आरोप लगाया कि जॉब ऑफर करते हुए उन्होंने ड्रिंक पर आने को कहा.

प्रेरणा सिंह बिंद्रा और शुतापा पॉल
पत्रकार प्रेरणा सिंह बिंद्रा और शुतापा पोल ने भी ट्वीट करके अकबर के खिलाफ इसी तरह की चीजों का जिक्र किया.