नई दिल्लीः कोरोनावायरस (Coronavirus) के चलते देश भर में लागू हुए 21 दिनों के लॉकडाउन (Lockdown) के बावजूद लोग हर कहीं नियमों कि धज्जियां उड़ाते दिख रहे हैं. महामारी के खतरे को देखने के बाद भी लोग सोशल डिस्टेंसिंग का खयाल नहीं रख रहे और कभी सब्जी-भाजी लेने के नाम पर तो कभी अपने शहर तक पहुंचने के नाम पर सैकड़ों की संख्या में साथ चलते दिख रहे हैं. सरकार के कड़े आदेशों के बाद भी लोग कुछ भी सुनने को तैयार नहीं हैं और अपनी जिद के चलते अपनी और दूसरों की जान खतरे में डाल रहे हैं. Also Read - एक बार फिर यूएई ने बीसीसीआई के सामने रखा IPL आयोजन का प्रस्ताव

हाल ही में नोएडा की कुछ तस्वीरें सामने आई थीं, जहां दिल्ली और हरियाणा के कई स्थानों से पैदल चलकर प्रवासी मजदूर, महिलाएं और बच्चे NH-24 में जाते दिख रहे थे. इन्हीं में से एक युवक का कहना था कि, “मैं बहादुरगढ़ (हरियाणा) से आ रहा हूं और इटावा (358.7 किमी दूर) जाना है. मेरी कंपनी बंद है, अगर मेरे पास लौटने का विकल्प नहीं है तो मेरे पास क्या विकल्प है?” Also Read - आक्रामक स्वभाव के लिए मशहूर कगीसो रबाडा ने कहा- मैं जल्दी आपा नहीं खोता हूं

ऐसे में दिल्ली और अन्य राज्यों में हजारों की संख्या में फंसे लोगों को वापस लाने के लिए यूपी राज्य परिवहन के एमडी राज शेखर ने खत लिखकर गाजियाबाद से उत्तर प्रदेश के लोगों का लाने के लिए अधिकारियों को निर्देश जारी किए. इस बीच जब लोगों को जैसे ही अपने शहरों और घरों तक पहुंचने की आस दिखाई दी तो बड़ी संख्या में लोग कौशांबी और लाल कुआं (Lal Kua) स्थित बस स्टैंड पहुंच गए. बसों के भर जाने के बाद अफरा-तफरी में लोग बसों के ऊपर ही बैठ गए.

वहीं गाजियाबाद (Ghaziabad) में भी उत्तर प्रदेश परिवहन द्वारा भेजी गई यात्री बसों में भी बड़ी संख्या में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते दिखे. जहां सैकड़ों की संख्या में लोग एक ही बस में दिखाई दिए. लोगों का यह हुजूम दिल्ली (Delhi), गुरुग्राम (Gurugram) और अन्य स्थानों से पैदल यात्रा करने के बाद लाल कुआ तक पहुंचा था, जहां से इन्हें इनके गृहनगरों के लिए रवाना किया गया था.

इसके अलावा कर्नाटक (Karnataka) के गडक (Gadak) का भी एक वीडियो सामने आया है, जहां कृषि उपज मंडी समिति के बाजार में लोग भीड़ इकट्ठा कर सब्जी खरीदते दिखाई दिए. एक ही जगह पर सैकड़ों लोग खड़े होकर मोल-भाव करने में लगे थे. जबकि कोरोना के चलते लोगों को कम से कम 3 से 6 मीटर तक की दूरी रखने के निर्देश दिए गए हैं.

बता दें भारत में लॉकडाउन के बावजूद लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या में इजाफा होता जा रहा है. देश में अभी तक 873 लोग इस महामारी से संक्रमित पाए जा चुके हैं, जबकि 19 लोगों की मौत हो चुकी है. ये संक्रमण और ना फैले, इसीलिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने (Narendra Modi) ने पूरे देश में 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की है और लोगों से सोशल डिस्टेंस बनाए रखने की अपील की है, लेकिन इसके बाद भी कई जगहों पर लोगों को नियमों को तोड़ते देखा जा रहा है