नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में तेजी से वृद्धि के बीच दिल्ली सरकार ने कोविड-19 के मरीजों के उपचार के लिए तीन निजी अस्पतालों का भी चयन किया. इससे राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के मरीजों के लिए 150 और बिस्तर उपलब्ध होंगे. Also Read - कोरोना वॉरियर: यह महिला अपने बचत के पैसे खर्च कर लखनऊ की गलियों को कर रही सैनिटाइज

शनिवार को जारी आदेश में दिल्ली की स्वास्थ्य सचिव पद्मिनी सिंगला ने कोविड-19 के पुष्ट एवं संदिग्ध रोगियों को उपचार के लिए शालीमार बाग के फोर्टिस, रोहिणी सेक्टर 19 के सरोज मेडिकल इंस्टीट्यूट और द्वारका के खुशी अस्पताल में भर्ती कराए जाने को लेकर घोषणा की. Also Read - कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित पांचवां देश बना भारत, इटली और स्पेन को पीछे छोड़ा

आदेश के अनुसार निजी अस्पतालों में ‘पृथक बिस्तरों की कमी’ के कारण यह निर्णय लिया गया है. इन तीनों अस्पतालों में 50-50 पृथक बिस्तर होंगे . उनके चिकित्सा अधीक्षकों को सोमवार तक पृथक वार्ड को शुरू करने का निर्देश दिया गया है. तीस अप्रैल को सिंगला ने महादुर्गा चैरेटिबल ट्रस्ट अस्पताल और सर गंगाराम सिटी अस्पताल को कोविड-अस्पताल घोषित किया था. Also Read - दिल्ली सरकार का बड़ा आदेश, अब कोरोना मरीजों को इलाज के लिए मना नहीं कर सकेंगे निजी अस्पताल

(इनपुट भाषा)