नई दिल्ली: बैंक द्वारा पर्याप्त कैश एटीएम में भरने को भेजा जाता था. इसके बाद भी कई बार ऐसा हुआ कि एटीएम में कैश जल्दी ख़त्म हो गया. ऐसा जब बार-बार हुआ तो जांच की गई. जांच करने पर जो खुलासा हुआ, इससे बैंक के लोग भी दंग रह गए. Also Read - SBI New rules: SBI खाताधरकों के लिए अहम खबर, 18 सितंबर से बदल रहे हैं ATM के नियम

दरअसल, दिल्ली में छह बैंक एटीएम से लगभग 20 लाख रुपये गबन करने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से दो वैन कस्टोडियन हैं. एक निजी कंपनी के कर्मचारी के तौर पर ये इन एटीएम में कैश भरा करते थे. इन्हें बैंक में कैश भरने की जिम्मेदारी मिली हुई थी. ये लोग बैंक से कैश ले जाते लेकिन एटीएम में रुपए डालने की बजाय अपने अकाउंट में भर लेते थे. दिल्ली पुलिस ने बताया कि अब तक 6.69 लाख रुपये गबन की राशि बरामद कर लिए गए हैं और चार अन्यों की तलाश जारी है. Also Read - SBI से 39 लाख रुपए लेकर गई एटीएम नकदी वैन दो दिन से गायब, मचा हड़कंप

पुलिस ने आगे कहा कि गिरफ्तार किए गए आरोपी अनुराग सिंह राजावत और वीरेंद्र सिंह ने जुए में पैसा गंवाने के बाद पैसे का गबन करने का फैसला लिया. उनके साथी रोहित अग्रवाल को गिरफ्तार कर लिया गया है, जिनके खाते में 3.5 लाख रुपये ट्रांसफर किए गए. Also Read - वीडियोकॉन मामला: ED ने ICICI बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर के पति को किया गिरफ्तार

ऑडिट के दौरान जब आईसीआईसीआई के छह एटीएम में 20,07,300 रुपये की कमी पाई गई तो ओखला ओद्योगिक क्षेत्र पुलिस स्टेशन में एक शिकायत दर्ज कराई गई. पुलिस ने बताया कि अनुराग के बैंक खाते से 2.34 लाख रुपये और वीरेंद्र के खाते से 66,000 हजार जब्त किए गए हैं.