नई दिल्ली: कर्नाटक के अगले मुख्यमंत्री बनने जा रहे एचडी कुमारस्वामी के शपथग्रहण का समय तय हो गया है. जेडीएस नेता कुमारस्वामी 23 मई की शाम साढ़े चार बजे प्रदेश सचिवालय में कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. सरकार द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहा गया है कि राज्यपाल वजुभाई वाला कुमारस्वामी को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगे. विज्ञप्ति में कहा गया कि कुमारस्वामी लॉर्ड मंजुनाथ, श्रृंगेरी शारदा देवी और मौजूदा शंकराचार्य श्री भारती तीर्थ का आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए धर्मशाला और श्रृंगेरी जाएंगे. Also Read - चीन के साथ तनाव पर राहुल गांधी का सवाल- चुप्पी न साधे सरकार, हालात के बारे में देश को बताए

ये दिग्गज होंगे शामिल
कुमारस्वामी के शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत विपक्ष के तमाम दिग्गज नेता भी शामिल रहेंगे. राहुल गांधी ने कुमारस्वामी से मुलाकात के बाद ट्वीट कर इस बात की पुष्टि की कि वो कुमारस्वामी के शपथग्रहण समारोह में शामिल होंगे. Also Read - लॉकडाउन को फेल बताने पर राहुल गांधी पर बीजेपी का पलटवार: झूठ नहीं फैलाएं, दुनिया के आंकड़े देखें

राहुल गांधी के अलावा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडु, तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव, यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव और मायावती, बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, हाल ही अभिनेता से नेता बने कमल हासन, डीएमके वर्किंग प्रेसिडेंट एम के स्टालिन और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी इस शपथग्रहण समारोह में शामिल होंगे.

राहुल सोनिया से की मुलाकात
इससे पहले कुमारस्वामी ने सोमवार को दिल्ली में कई नेताओं से मुलाकात की. उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से मुलाकात की और उन्हें अपने शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया. कुमारस्वामी के साथ पार्टी नेता दानिश अली भी मौजूद थे जबकि कांग्रेस की तरफ से राहुल और सोनिया के अलावा केसी वेणुगोपाल इस दौरान मौजूद रहे.

कर्नाटक में फ्लोर टेस्ट से पहले ही येदियुरप्पा द्वारा इस्तीफा देने के बाद अब कांग्रेस और जेडीएस मिलकर सरकार बना रहे हैं. राहुल ने भी ट्वीट कर शामिल होने की हामी भर दी है.

सत्ता साझा नहीं होगी
कुमारस्वामी रविवार को ही कह चुके हैं कि कर्नाटक में सत्ता साझा करने पर कांग्रेस से कोई समझौता नहीं होगा. हालांकि कुमारस्वामी ने ये जरूर माना था कि कांग्रेस अध्यक्ष से मिलकर डिप्टी सीएम और कांग्रेस और जेडीएस के कितने विधायक गठबंधन सरकार में मंत्री बनेंगे इस पर जरूर चर्चा हो सकती है. कुमारस्वामी के दिल्ली पहुंचने से पहले ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि कुमारस्वामी दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष से मिलकर 30-30 महीने तक सरकार चलाने के फॉर्मूले पर बात करेंगे लेकिन कुमारस्वामी ने ऐसी किसी भी अटकल को साफ नकार दिया था.