नई दिल्ली: पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव चल रहा है. इनमें से तीन राज्य छत्तीसगढ़, मिजोरम और मध्य प्रदेश में चुनाव हो चुके हैं वहीं तेलंगाना और राजस्थान में 7 दिसंबर को वोटिंग है. इन राज्यों के नतीजे चाहे जिस पार्टी के पक्ष में आएं इसका असर 2019 के लोकसभा चुनाव पर पड़ेगा. लोकसभा सीटों के लिहाज से सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में जहां 80 सीटें हैं बीजेपी के पास सबसे ज्यादा सीटे हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसी राज्य से सांसद भी हैं. लेकिन 2014 के मोदी लहर पर सवार बीजेपी को नुकसना होता दिख रहा है. Also Read - Diwali Bonus: लॉकडाउन के दौरान समय पर EMI चुकाने वालों को कैशबैक देगी सरकार, जानें क्या है पूरा मामला

Also Read - PM मोदी ने गुजरात में 3 परियोजनाओं का किया उद्घाटन, कहा- 'अन्नदाता को ऊर्जा दाता बनाने का भी हो रहा काम'

चंद्रबाबू नायडू ने कहा- कोई भी प्रधानमंत्री बने, नरेंद्र मोदी से बेहतर होगा Also Read - Loan Moratorium Update: लोन मोरेटोरियम के दौरान कर्ज पर ब्याज छूट को लेकर वित्त मंत्रालय ने जारी किया यह दिशानिर्देश

न्यूज चैनल टाइम्स नाउ और CNX के ऑपिनियन पोल में बीजेपी को नुकसान होता दिख रहा है. सर्वे के मुताबिक यूपी की 80 लोकसभा सीटों पर अगर आज चुनाव हुए और सभी पार्टियां अकेले मैदान में उतरीं तो बीजेपी को 16 सीटों का नुकसान हो सकता है. लेकिन महागठबंधन हुआ तो एनडीए को 42 सीटों का नुकसान होगा. उसे केवल 31 सीटें मिलेंगी.

तेलंगाना की लापता ट्रांसजेंडर उम्मीदवार पुलिस थाने पहुंची, परिवार ने जताई थी किडनैपिंग की आशंका

2014 के लोकसभा चुनाव में NDA को 73 सीटें (बीजेपी को 71) मिली थीं लेकिन आज उसे 55 सीटें मिलती दिख रही हैं, जबकि कांग्रेस 3 सीटों की बढ़त लेकर 5 सीटें और खाता खोलने में नाकाम रही बीएसपी इस बार 9 सीटें जीत सकती है. हालांकि पसंदीदा प्रधानमंत्री के तौर पर नरेंद्र मोदी अब भी लोगों की पहली पसंद हैं लेकिन उनकी लोकप्रियता मे गिरावट आई है.

रामलीला मैदान में जुटे किसानों की मांग, राम मंदिर नहीं कर्जमाफी चाहिए, आज संसद तक मार्च

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे आने से एक दिन पहले 10 दिसंबर को गैर-भाजपा दलों की बैठक में गठबंधन पर चर्चा होने की उम्मीद है. टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू सभी दलों को साथ लाने की कोशिश कर रहे हैं. नायडू ने कहा कि वह समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की नेता मायावती के संपर्क में हैं. उन्होंने उम्मीद जताई कि मायावती पांच राज्यों के चुनाव के बाद गठबंधन पर फैसला लेंगी.

काम पूरा नहीं हुआ तो केंद्रीय मंत्री ने बिहार के पहले फूड पार्क के उद्घाटन से किया इंकार

यूपी में एसपी-बीएसपी के साथ आने के बाद लोकसभा के उपचुनाव में पूरा समीकरण ही बदल गया था. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और कैरान सीटों पर बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा था. हालांकि लोकसभा चुनाव में दोनों पार्टियां के साथ आरएलडी और कांग्रेस के साथ आने की अभी अटकले हैं. तस्वीर साफ होने में वक्त लगेगा लेकिन अगर ऐसा होता है तो बीजेपी को बहुत बड़ा नुकसान होने वाला है.