कोलकाता: पश्चिम बंगाल के पूर्वी मिदनापुर जिले में भाजपा प्रमुख अमित शाह की एक रैली के बाद भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हुई. भाजपा कार्यकर्ताओं को ले जा रहे वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया. दोनों पार्टियों के सूत्रों ने बताया कि झड़प में तीन व्यक्ति घायल हुए हैं. हालांकि, पुलिस से इसकी पुष्टि नहीं हुई है. तृणमूल कांग्रेस पार्टी के एक कार्यालय में तोड़फोड़ की घटना हुई है.

नरेन्द्र मोदी का यूबीआई प्लान करेगा राहुल गांधी की न्यूनतम आय वाली योजना का मुकाबला!

भाजपा ने आरोप लगाया कि जिन बसों से भाजपा कार्यकर्ता रैली से लौट रहे थे, उस पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हमला किया और आग लगा दी. वहीं, तृणमूल कांग्रेस का दावा है कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने तृणमूल कांग्रेस के कांठी में स्थित एक स्थानीय कार्यालय पर हमला किया और तोड़फोड़ की. उन्होंने बताया कि इसके बाद तृणमूल कांग्रेस के गुस्साए कार्यकर्ताओं ने पलटवार किया और झड़प शुरू हो गई.

पेरेंट्स को PM मोदी का मंत्र: बच्चों का हाथ मजबूती से थामें, उनकी छोटी उपलब्धियों पर भी मनाएं जश्न

VIDEO: सीएम योगी ने प्रयागराज के संगम में लगाई डुबकी

पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रभारी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा, हम ममता जी (पश्चिम बंगाल की सीएम) को चेतावनी देना चाहते हैं कि इस प्रकार बीजेपी का कार्यकर्ता न डरने वाला है, न झुकने वाला है. ये ममता जी को बहुत महंगा पड़ेगा, ये मैं कहना चाहता हूं.

SC में याचिका दायर करने बाद केंद्र ने कहा, सरकार अयोध्या में विवादित जमीन को नहीं छू रही है

राज्य में भाजपा के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, ”हमारे समर्थक जब अमित शाह की रैली से लौट रहे थे तो उन पर तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने हमला किया” यह शर्मनाक है. हम इसकी आलोचना करते हैं.’ तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुवेंदु अधिकारी ने दावा किया कि भाजपा राज्य की शांति और स्थायित्व को भंग करने की कोशिश कर रही है.

VIDEO: कांग्रेसियों के बीच हुई मारपीट, एक-दूसरे की पिटाई करते हुए यूं आए नजर

पूर्वी मिदनापुर में अमित शाह की रैली स्थल के पास वाहनों पर तोड़फोड़ और आगजनी को लेकर TMC नेता मदन मित्रा ने कहा कि एक पूरे के रूप में बीजेपी के अंत की शुरुआत बंगाल से शुरू हो चुकी है. बीजेपी ने झारखंड के कुछ गुंडों को काम पर रखा है. वे ऐसा इसलिए कर रहे हैं, क्योंकि उनके पास कोई और मुद्दा नहीं है.

कभी आरएसएस और बीजेपी के घोर आलोचक थे जॉर्ज फर्नांडिस, नीतीश को बीजेपी गठबंधन में ले आए