अगरतला: त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते मास्क की कमी को देखते हुए शुक्रवार को लोगों से इसके विकल्प के रूप में ‘‘गमछा’’ बांधने को कहा. मुख्यमंत्री ने वीडियो संदेश में कहा, ‘‘ मास्क अस्पतालों में काम करने वाले या पृथक केंद्र में रह रहे लोगों के लिए अनिवार्य है. यह भय पैदा किया जा रहा है जो लोग मास्क का इस्तेमाल नहीं करेंगे वे कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं.’’ Also Read - गाजीपुर: गंगा नदी में बहते शवों से मचा कोहराम, कोरोना संकट के बीच जिलाधिकारी ने दिए जांच के आदेश

उन्होंने कहा, ‘‘अस्पतालों में काम कर रहे लोगों के लिए पर्याप्त संख्या में मास्क है लेकिन साथ ही सरकार के लिए यह संभव नहीं है कि वह राज्य के सभी 40 लाख लोगों को मास्क बांटे. इसलिए मेरा आप सभी से अनुरोध है कि एहतियाती उपाय के तहत मास्क की जगह ‘‘जल गमछा’’ का इस्तेमाल करें.’’ Also Read - कोरोना महामारी में अभिभावकों को खोने वाले बच्‍चों को हर माह 5 हजार रुपए की पेंशन म‍िलेगी, एमपी के CM की घोषणा

देब ने लोगों से अपील की कि जरूरी नहीं होने पर घरों से नहीं निकलें और सामाजिक मेल-मिलाप से दूरी बनाए रखें. बता दें कि भारत में कोरोना वायरस (Corona Virus) के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर शुक्रवार को 17 हो गई और संक्रमित मामले 724 पर पहुंच गए हैं. स्वास्थ्य मंत्रालय ने सुबह नौ बजकर 15 मिनट पर अपने ताजा आंकड़ों में बताया कि महाराष्ट्र में चार लोगों की मौत हो गई जबकि गुजरात में तीन लोगों की मौत हुई है. वहीं, राजस्थान में एक और मौत हुई है. राजस्थान में ये दूसरी मौत है. यहाँ 60 वर्षीय शख्स की मौत हुई है. कर्नाटक में अभी तक दो लोग जान गंवा चुके हैं जबकि मध्य प्रदेश, तमिलनाडु, बिहार, पंजाब, दिल्ली, पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में एक-एक शख्स की मौत हुई हैं. Also Read - Covid 19 Positive Story: कोरोना ने छीनी नौकरी तो इस शख्स ने शुरू किया बिजनेस, 70 लोगों को दी नौकरी