नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष के गठन की घोषणा की जहां लोग कोरोना वायरस के खिलाफ सरकार की लड़ाई में मदद एवं योगदान दे सकते हैं. पीएम मोदी के इस ऐलान के बाद बॉलीवुड सुपरस्टार अक्षय कुमार ने 25 करोड़ रुपये देने की घोषणा की है. Also Read - Coronavirus In World Update: पूरी दुनिया कोरोना के खौफ में, अमेरिका में मौत का आंकड़ा 1 लाख के करीब, जानें बड़े देशों का हाल

मोदी ने अपने ट्वीट में कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नागरिक सहायता एवं आपात स्थिति राहत कोष (PM CARES) स्वस्थ भारत बनाने में काफी सहायक होगा.’’ उन्होंने कहा, ‘‘कोविड-19 के खिलाफ भारत के युद्ध में सभी वर्गों से लोगों ने दान देने की इच्छा व्यक्त की थी.’’ Also Read - चीन से तनाव पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का बयान- 'नरेंद्र मोदी के भारत को कोई आंख नहीं दिखा सकता'

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस कोष का गठन इसी भावना को ध्यान मे रखते हुए किया गया है. हालांकि इसके तुरंत बाद ही सबसे बड़ा ऐलान अक्षय कुमार की तरफ से हुआ. अक्षय कुमार ने पीएम केयर्स फंड में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में 25 करोड़ रुपये की मदद की है. अक्षय ने ट्विटर पर लिखा, “यह वह समय है जब लोगों का जीवन सबसे ज्यादा मायने रखता है और उन्हें बचाने के लिए हम लोगों को हर संभव योगदान देने की जरूरत है. मैं अपनी बचत से नरेंद्र मोदी जी के प्रधानमंत्री राहत कोष में 25 करोड़ रुपये का योगदान करने की प्रतिज्ञा करता हूं. चलो जान बचाते हैं, जान है तो जहान है.” प्रधानमंत्री इसके ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं और इसमें गृहमंत्री, वित्तमंत्री, रक्षामंत्री शामिल हैं. Also Read - India China News: भारत-चीन के बीच क्यों है तनातनी, क्या है विवाद, जानें हर बात...

अगर आप भी पीएम केयर्स फंड में सहायता करना चाहते हैं इस प्रकार कर सकते हैं-

  • Name of the Account : PM CARES
  • Account Number : 2121PM20202
  • IFSC Code : SBIN0000691
  • SWIFT Code : SBININBB104
  • Name of Bank & Branch : State Bank of India, New Delhi Main Branch
  • UPI ID : pmcares@sbi

नीचे दिए गए भुगतान के तरीके वेबसाइट pmindia.gov.in पर उपलब्ध हैं –

  • डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड
  • इंटरनेट बैंकिंग
  • UPI (BHIM, PhonePe, Amazon Pay, Google Pay, PayTM, Mobikwik, आदि)
  • आरटीजीएस / एनईएफटी
  • इस फंड को दान को धारा 80 (जी) के तहत आयकर से छूट दी जाएगी.