चंडीगढ़ः पंजाब के जिस पुलिसकर्मी का हाथ कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए कर्फ्यू प्रतिबंध लागू कराने के दौरान झड़प में काट दिया गया था, उसके प्रति एकजुटता व्यक्त करते हुए पंजाब के पुलिस प्रमुख दिनकर गुप्ता ने सोमवार को पुलिसकर्मियों से उनके नाम का बैज गर्व के साथ लगाने के लिए कहा. Also Read - Complete Lockdown In India! थम नहीं रहा कोरोना का कहर, क्या संपूर्ण लॉकडाउन है विकल्प? सरकार ने भी दिये संकेत- क्या कहते हैं आंकड़े

गुप्ता ने एक ट्वीट में कहा, “आइए सभी को दिखाएं कि पुलिसकर्मियों और डॉक्टरों पर कोई हमला, जो एसआई हरजीत सिंह की तरह कोविड-19 से लड़ रहे हैं, वह भारत को एक साथ एकजुट करेगा.” उन्होंने कहा, “एसआई हरजीत और सभी योद्धाओं के साथ एकजुटता दिखाते हुए, मैं आप सभी से आज उनके नाम के बैज को गर्व से सीने पर लगाने का आग्रह करता हूं.” Also Read - Video: हवा में उड़ते ही निकला एयर एंबुलेंस का पहिया, फिर ऐसे हुई लैंडिंग; सभी सुरक्षित

असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर हरजीत सिंह के बाएं हाथ को 12 अप्रैल को पटियाला में निहंग सिखों द्वारा झड़प में घायल कर दिया गया था, को उनके अनुकरणीय साहस की के लिए सब इंस्पेक्टर रैंक (एसअई) पर पदोन्नत कर दिया गया है. जबकि घटना में शामिल तीन अन्य पुलिसकर्मियों को महानिदेशक के कमेंडेशन डिस्क से सम्मानित किया गया है.

चंडीगढ़ के पीजीआई अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा आठ घंटे की सर्जरी में हरजीत के हाथ को सफलतापूर्वक लगाया गया था. हरजीत सिंह का अभी भी पीजीआई में इलाज चल रहा है.