चंडीगढ़: पिछले कई दिनों से देश भर में नागरिकता विधेयक के खिलाफ सड़क पर प्रदर्शन जारी है. कुछ हिस्सों में इस विरोध प्रदर्शन ने हिंसक रूप भी ले लिया है. मगर इस विरोध प्रदर्शन की आड़ में राजनितिक पार्टियों की सियासत भी तेज हो गई है. सत्ताधारी पार्टी ने इस पूरे विरोध का इल्जाम विपक्ष पार्टी के सर लाद दिया वहीं विपक्ष ने सरकार के इस पहल और इस बिल को असंवैधानिक करार दिया.  इसी सिलिसिले में हरियाणा में भाजपा के एक विधायक ने एक समुदाय विशेष पर निशाना साधते हुए कहा कि जो लोग संशोधित नागरिकता कानून और एनआरसी का विरोध कर रहे हैं उनका ‘सफाया’ एक घंटे में किया जा सकता है.

सीएए का विरोध कर रहे लोगों पर अनावश्यक घातक बल प्रयोग न करें: ह्यूमन राइट्स वॉच

कैथल के विधायक लीला राम गुर्जर संशोधित नागरिकता कानून के समर्थन में अपने विधानसभा क्षेत्र में आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. उन्होंने सभा में कहा, ‘‘ आज यह जवाहरलाल नेहरू का हिंदुस्तान नहीं है, आज यह गांधी वाला नहीं है. आज यह हिंदुस्तान है नरेंद्र मोदी जी का. मियां जी, अब यह हिंदुस्तान नरेंद्र मोदी जी का है, अगर इशारा हो गया ना तो एक घंटे में सफाया कर देंगे.’’

संशोधित नागरिकता कानून का हवाला देते हुए वह एक वीडियो क्लिप में यह कहते हुए सुने जा सकते हैं कि मोदी ने यह पहल की है. उन्होंने कहा, ‘‘ अगर मुस्लिम सोचते हैं कि उन्हें देश से निकालने के लिए यह षड्यंत्र है तो ऐसा उस कानून में कुछ भी नहीं है. लेकिन जिन्होंने अवैध तरीके से देश में प्रवेश किया है, उन्हें निश्चित तौर पर जाना होगा.’’

भाजपा को “महंगा” पड़ा सीएए पर नड्डा का कार्यक्रम, अवैध पोस्टर-बैनरों पर भारी जुर्माना

इस साल अक्टूबर में आयोजित विधानसभा चुनाव में कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला को हराने वाले गुर्जर ने कहा, ‘‘ मैं यहां लोगों से कहना चाहता हूं कि आज यह भारत मनमोहन सिंह, जवाहरलाल नेहरू या गांधी का नहीं है, बल्कि मोदी जी और अमित शाह का भारत है.’’