PM Narendra Modi Speech In Loksabha: लोकसभा में प्रधानंमत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का जवाब देते हुए पहले तो सदन में मौजूद सभी सदस्यों का धन्यवाद किया. इसके बाद विपक्षी दलों पर उन्होंने जमकर हमला बोला. पीएम ने विपक्ष की नीतियों पर व उनके काम की तेजी पर सवाला उठाया. पीएम ने राम मंदिर, नाबालिग से रेप पर सजा, धारा 370 और अन्य कई मामलों पर जवाब देते हुए विपक्ष पर हमला बोला. पीएम ने अपने भाषण की शुरुआत प्रसिद्ध कवि सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की एक कविता ‘लीक पर वे चलें, जिनके चरण दुर्बल और हारे हैं’ से की.

पीएम ने कहा कि एक स्वर ये उठा है कि सरकार को सारे कामों की जल्दी क्यों है? हम सारे काम एक साथ क्यों कर रहे हैं? इसके जवाब में पीएम ने विपक्षी दलों पर हमलावर रुख अख्तियार करते हुए कहा कि लोगों ने सरकार बदली है ऐसा नहीं है लोगों ने सरोकार भी बदला है. अगर हम कांग्रेस की नीतियों और सोच के हिसाब से चलते तो देश की आजादी के 70 साल बाद भी धारा 370 नहीं हटता और ना ही राम मंदिर का विवाद खत्म होता. तीन तलाक पर विपक्ष को घेरते हुए पीएम ने कहा कि आपके ढर्रे पर चलते तों मुस्लिम बहनों को तीन तलाक का डर आज भी डराती रहती. उन्होंने कहा कि अगर उनकी सरकार अगर पूर्ववर्तियों की रफ्तार से चलती हो आज शत्रु संपत्ति कानून नहीं लाया जा सकता.

पीएम ने सरकार द्वारा किए गए कामों पर बोलते हुए विपक्ष के सवालों का जवाब दिया और कहा कि आपके तरीके से चलते तो नाबालिग से रेप की सजा में फांसी का कानून नहीं बनता. आपकी सोच पर चलते तो राम जन्मभूमि आज भी विवादों में ही रहता. उन्होंने कहा कि आपको ढर्रे पर चलते तो करतारपुर साहिब कॉरिडोर नहीं बनता और ना ही बांगलादेश सीमाविवाद कभी सुलझ पाता. पीएम ने विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि अधीर जी को देखता हूं तो किरण रिजीजू को बधाई देता हूं. फिट इंडिया का प्रचार-प्रसार, भाषण और जिम अच्छे से करते हैं. महात्मा गांधी पर बोलते हुए पीएम मोदी विपक्ष से कहा कि गांधी आपके लिए ट्रेलर हो सकते हैं लेकिन हमारे ले वो जिंदगी हैं. राष्ट्रपति के भाषण पर धन्यवाद देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि राष्ट्रपति का भाषण देश को दिशा देने वाला भाषण है.