नई दिल्ली: दिल्ली में टमाटर के भाव अब भी आसमान पर बने हुए हैं. यह खुदरा बाजार में 60 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम तक बिक रहे हैं. हालांकि, सरकार ने मदर डेयरी से सफल स्टोर पर टमाटर प्यूरी की आपूर्ति बढ़ाने के लिए कहा है, लेकिन इसका बाजार पर कोई असर नहीं दिख रहा. महाराष्ट्र और कर्नाटक जैसे टमाटर उत्पादक राज्यों में भारी बारिश के चलते दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में टमाटर की आपूर्ति प्रभावित हुई है. इससे इसकी कीमतें ऊंचे स्तर पर हैं.

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार गुरुवार को दिल्ली में टमाटर की औसत खुदरा कीमत 60 रुपये प्रति किलोग्राम रही. जबकि इसी साल एक अक्टूबर को इसका भाव 45 रुपये प्रति किलोग्राम था. हालांकि, रेहड़ी इत्यादि पर सब्जी बेचने वालों के असंगठित क्षेत्र में टमाटर 80 रुपये प्रति किलोग्राम तक बिका. पिछले हफ्ते केंद्र सरकार के दखल के बावजूद टमाटर की कीमतें ऊंचे स्तर पर बनी हुई हैं.

सरकार ने 10 अक्टूबर को सार्वजनिक क्षेत्र की मदर डेयरी से उसके 400 से ज्यादा सफल स्टोर पर 200 ग्राम टमाटर प्यूरी 25 रुपये में बेचने के लिए कहा है. 200 ग्राम प्यूरी ताजा 800 ग्राम टमाटर के बराबर होती है. वहीं 825 ग्राम टमाटर प्यूरी के पैक की कीमत 85 रुपये है जो ढाई किलोग्राम टमाटर के बराबर होती है.

अधिकतर ग्राहकों की प्रतिक्रिया है कि प्यूरी का स्वाद ताजे टमाटर से अलग होता है जिसका उपयोग रोजाना के खाने में नहीं किया जा सकता. इसलिए लोग कीमतें ऊंची होने के चलते कम मात्रा में टमाटर खरीद रहे हैं. इसी तरह प्याज के विकल्प के रूप में ‘सूखे प्याज’ को अपनाया नहीं जा सका है. हालांकि, ‘अदरक-लहसुन का पेस्ट’ बाजार में अपनी जगह बना चुका है.

(इनपुट-भाषा)