नई दिल्‍ली: केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार की 2.0 के एक मंत्री ने मंत्रालय के अफसर को फिजूलखर्ची पर ऐसा संदेश दिया कि वे हैरान रह गए और शायद ऐसा कुछ अब दोबारा न करें कि जिससे मंत्री के इरादे पर पानी फिरे. दरअसल, केंद्रीय पर्यटन राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) प्रहलाद पटेल ने अपने पद का कार्यभार संभालते ही मंत्रालय में फिजूलखर्ची पर लगाम लगाने की शुरुआत कर दी है. मंत्रालय के अफसरों ने इस मौके लिए 5 स्‍टार स्‍वल्‍पाहार का प्‍लान बना रखा था, लेकिन मंत्री ने अपने सादगी और मितव्‍ययिता के चलते उसे फेल कर दिया.

ये वाकया मंगलवार को तब हुआ जब मंत्री के कार्यभार ग्रहण करने का कार्यक्रम था. मंत्रालय के अफसरों ने मौका देखकर पहले से ही आईटीडीसी के 5 स्‍टार होटल सम्राट से महंगा नाश्‍ता मंगाने का ऑर्डर दे दिया था. दोपहर 12 बजे जब मंत्री पटेल ने कार्यभार संभाला तब उन्‍हें इसकी जानकारी लगी. उन्‍होंने ने तुरंत ही इसे कैंसिल करने के लिए साफ कह दिया और अफसरों से कहा कि चाय-बिस्‍कुट की व्‍यवस्‍था की जाए. उन्‍होंने ये भी कहा कि मंत्रालय में फिजूलखर्ची नहीं की जाए. इस वाकये की खबर भी मंत्री पटेल ने अपनी फेसबुक वाल पर शेयर की है.

पटेल ने मंत्रालय का कार्यभार संभालते ही अफसरों से कहा कि मंत्रालय में फिजूलखर्ची रोकी जाए. उन्‍होंने मीडियाकर्मियों से कहा कि भारत की संस्‍कृति आधारित पर्यटन को बढ़ावा देंगे.

पटेल के पर्यटन राज्‍य मंत्री का कार्यभार संभालने के अवसर पर कई नेता पहुंचे थे. इनमें उनके परिवार के सदस्‍यों के अलावा बीजेपी के कई नेता और अपना दल की सांसद अनुप्र‍िया पटेल भी थीं. इन नेताओं ने पर्यटन मंत्री पटेल को शुभकामनाएं दीं. (इनपुट: सोशल मी‍डि‍या )