लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने पिछले साल की तरह पूर्व शर्तों पर मौजूदा वित्तीय वर्ष के लिए इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन लि. द्वारा संचालित महाराजा एक्सप्रेस की पांच सफारी ट्रेनों में उत्तर प्रदेश के भ्रमण के दौरान पर्यटकों की सुविधा के लिए शराब परोसे जाने की इजाजत दे दी है. Also Read - यूरोपीय संघ ने 14 देशों के लिए अपनी सीमाएं फिर से खोलीं, भारत और अमेरिकी पर्यटकों अनुमति नहीं

पूर्व निर्धारित शर्तों में यह भी शर्त सम्मिलित की जाएगी कि प्रदेश में होलोग्राम के स्थान पर क्यूआर कोड लगी और विधिवत शुल्क भुगतान के साथ ही इन गाड़ियों में किसी शराब को बेचने की अनुमति होगी. Also Read - सियाचिन को पर्यटकों के लिए खोलने के भारत के फैसले पर पाकिस्तान को लगी मिर्ची, कही ये बात

इन पांच ट्रेनों में मिलेगी शराब Also Read - सियाचिन के बर्फीले पहाड़ों का आनंद ले सकते हैं पर्यटक, सरकार ने खोले सियाचीन ग्लेशियर के दरवाजे

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि आबकारी विभाग द्वारा 17 सितम्बर, 2018 को जारी शासनादेश में कहा गया है कि जिन पांच सफारी ट्रेनों में भ्रमण के दौरान मदिरा उपलब्ध कराने की अनुमति दी गई है, उन ट्रेनों में पहली ट्रेन हेरिटेज ऑफ इंडियाः-मुंबई-अजन्ता-उदयपुर- जोधपुर-बीकानेर-जयपुर-रणथम्भौर-आगरा और दिल्ली, दूसरी ट्रेन द इंडिया
स्प्लैंडरः-दिल्ली-आगरा-रणथम्भौर-जयपुर-बीकानेर-जोधपुर-उदयपुर-बालासोर-मुंबई, तीसरी ट्रेन, ट्रेजर्स ऑफ इंडिया: दिल्ली-आगरा-रणथम्भौर-जयपुर-दिल्ली, चौथी ट्रेन जेम्स ऑफ इण्डियाः दिल्ली-आगरा-रणथम्भौर-जयपुर-दिल्ली और पांचवीं ट्रेन द इंडिया, पेनोरमाः-दिल्ली-आगरा-रणथम्भौर-फतेहपुर सीकरी-आगरा-ग्वालियर-खजूराहो-वाराणसी-लखनऊ-दिल्ली शामिल हैं.

शासनादेश में आबकारी आयुक्त उत्तर प्रदेश को इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही किए जाने की निर्देश दिए गए हैं.