नई दिल्लीः दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने सोमवार को आजादपुर मंडी (Azadpur Mandi) को 24 घंटे तक खुला रखने का फैसला किया. सरकार ने ऐसा कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से लागू लॉकडाउन में किसानों और कारोबारियों को राहत पहुंचाने के लिए किया, ताकि इस बीच नुकसान झेल रहे किसान और कारोबारियों को कुछ राहत मिल सके, लेकिन इस बीच आजादपुर मंडी से जो तस्वीरें सामने आईं, वह बाकई चिंता बढ़ाने वाली हैं. Also Read - Bihar News: बक्सर में गंगा नदी में बहती मिलीं 30 से ज्यादा लाशें, लोगों में भय का माहौल; DM बोले- 'सभी शव बहकर आए'

सरकार के फैसल के बाद मंगलवार सुबह जैसे ही मंडी खुली यहां सोशल डिस्टेंसिंग को ताक पर रखकर लोग भीड़ लगाते दिखाई दिए. कोरोना के खतरे के बावजूद यहां कारोबारियों, छोटे किसानों सहित खरीददारों की भी भारी भीड़ देखने को मिली, वह भी बिना सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन किए. यहां ऐसी भीड़ इकट्ठी हो गई कि, जहां सड़कों पर एक इंसान भी दिखाई नहीं दे रहा था, वहां जाम की स्थिति बन गई. Also Read - लॉकडाउन से इस कदर परेशान हुए एक्टर Vijay Varma, घर ले आए नई बीवी!

कृषि उत्पाद विपणन समिति (एपीएमसी) के अध्यक्ष आदिल अहमद खान ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से हाल में समिति ने सब्जियों की बिक्री के लिए सुबह छह बजे से 11 बजे तक और फलों की बिक्री के लिए दोपहर दो बजे से शाम छह बजे तक का समय निर्धारित किया गया है.

मंडी खुलने से पहले यह तय किया गया था कि टोकन प्रणाली रखी जाएगी और एक घंटे में सिर्फ चार हजार लोगों को ही मंडी में प्रवेश करने की अनुमति मिलेगी, लेकिन मंडी खुलते ही सारे नियत दरकिनार हो गए और सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का खूब मखौल बनाया गया.

अपनी और दूसरों की फिक्र किए बिना लोगों ने यहां लॉकडाउन के नियमों की खूब धज्जियां उड़ाईं. बता दें आजादपुर मंडी एशिया में फल और सब्जी की सबसे बड़ी मंडी है जो करीब 80 एकड़ में फैली है. दिल्ली के विकास मंत्री गोपाल राय ने सोमवार को घोषणा की थी कि मंगलवार से मंडी में सब्जियों और फलों की बिक्री सुबह छह बजे से रात दस बजे तक होगी. इसके बाद ट्रकों को रात दस बजे से सुबह छह बजे तक मंडी में प्रवेश करने की अनुमति दी जाएगी.