नई दिल्ली: पंजाब के अमृतसर में दशहरा के मौके पर बड़ा रेल हादसा हुआ है. हादसे में अब तक 58 की मौत की पुष्टि हुई है. अमृतसर के लिस कमिश्नर एसएस श्रीवास्तव ने ये जानकारी साझा की है. ये संख्या बढ़ सकती है. रावण दहन रेल पटरी के किनारे हो रहा था. लोग पटरियों पर जमा थे. इसी बीच तेज रफ्तार से आ रही ट्रेन की चपेट में लोग आ गए. कुल कितने लोग इससे प्रभावित हुए हैं, कितनों की मौत हुई है, सटीक पुष्टि सुबह तक ही हो पाने की संभावना है. बताया जा रहा है कि रेलवे ट्रैक पर 300 से अधिक लोग थे. चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल है. सूचना मिलते ही वहां आला अफसर पहुंच गए हैं. घायलों को अस्पताल पहुंचाया जा रहा है और राहत कार्य जारी है. वहीँ, रेलवे ने वहीँ, रेलवे ने हेल्पलाइन नम्बर्स जारी कर दिए हैं.

रेलवे ने हादसे को लेकर हेल्पलाइन नंबर 0183- 2440024, 0183-2564485, 0183-2402927, 7986897301 और 7973657316 जारी किए हैं. वहीँ, पंजाब सरकार ने अपील की है कि जो लोग भी ब्लड डोनेट करना चाहें, वह अमृतसर के सिविल हॉस्पिटल पहुंचें.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, रेलवे ट्रैक के पास रावण दहन हो रहा था. रेलवे ट्रैक पर सैकड़ों लोग जमा थे. जैसे ही रावण के पुतले को आग लगाई गई, वहां पटाखे छोड़े जाने लगे. इसी बीच पटाखे की आवाज के बीच ट्रैक पर ट्रेन आ गई. पटाखों के कारण ट्रेन की आवाज लोगों को नहीं सुनाई दी. और पटरी पर जमा लोग ट्रेन की चपेट में आ गए. ट्रेन पठानकोट से अमृतसर के तरफ जा रही थी.

आधिकारिक तौर पर अब तक 58 लोगों की मौत की जानकारी दी गई है. ये संख्या से कहीं ज्यादा हो सकती है. सुबह तक सटीक पुष्टि हो पाएगी. रात होने के कारण बचाव कार्य में भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

स्थानीय लोगों का कहना है कि एक तरफ से रामलीला की टोली आती है. ऐसे में एक तरफ से भीड़ जमा थी और दूसरी तरफ से टोली खड़ी थी. इसी बीच ट्रैक पर तेजी से ट्रेन आ गई. इससे लोग इसकी चपेट में आ गए. अभी तक जो हालात हैं, वह परेशान करने वाले हैं. लोग अपनों की तलाश में लगे हैं और मौके पर टार्च की रोशनी से अपनों की तलाश कर रहे हैं.

रेल राज्यमंत्री मनोज सिंहा ने बताया कि चिकित्सकों की टीमें मौके पर पहुंच गई हैं. उन्होंने कहा कि जैसा कि बताया जा रहा है कि लोगों को पटाखों की आवाज के कारण ट्रेन की आवाज नहीं सुन पाए. और हादसा हो गया. दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मृतक के परिजनों को 2-2 लाख रुपए व घायलों को 50-50 हजार देने का ऐलान किया है.

इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख व घायलों के फ्री इलाज की घोषणा की है. मुख्यमंत्री ने घटना की जांच के भी आदेश दिए हैं. मदद के लिए इंडो-तिब्बत बॉर्डर पुलिस और पंजाब पुलिस के जवान मौके पर पहुंच गए हैं. केंद्रीय रेलमंत्री पियूष गोयल अमेरिका में हैं. वह अपना दौरान रद्द कर वापस भारत लौट रहे हैं.