नई दिल्‍ली: ट्रेन में सफर करने वालों के लिए अच्‍छी खबर है. भारतीय रेलवे ने अब लंबी दूरी वाली ट्रेनों में ‘ट्रेन कैप्टेन’ नामक पोस्‍ट बनाई है, जो कि ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों को होने वाली परेशानियों को दूर करेंगे. ट्रेन में सफर के दौरान यात्रियों को होने वाली दिक्‍कतों को लेकर रोजाना ट्विटर पर हजारों शिकायतें आती हैं. ऐसे में भारतीय रेलवे की ओर से ‘ट्रेन कैप्टेन’ की तैनाती से बड़ी राहत मिलेगी. फिलहाल प्रारंभिक तौर पर यह सेवा राजधानी, शताब्दी और दुरांतों ट्रेनों में शुरू की गई है.

IRCTC के किचन पर रहेगी यात्रियों की नजर, ट्रेन में बैठे देख सकेंगे-कैसे बन रहा आपका खाना

हमारे सहयोगी अखबार डीएनए की रिपोर्ट के मुताबिक,  रेलवे अधिकारियों ने बताया कि सुझाव/शिकायत पुस्तिका में ट्रेनों के अंदर पंजीकृत मैन्युअल शिकायतों के अलावा, उन्हें ट्विटर पर 3,000 से अधिक शिकायतें मिलती हैं. वर्तमान में इन समस्‍याओं को लेकर या‍त्री टीटी से शिकायत करते हैं. लेकिन अब ‘ट्रेन कैप्टन’ से करेंगे, जो कि एक अलग वर्दी में होगा. ‘ट्रेन कैप्टन’ को ट्रेन में तैनात सभी रेल कर्मचारी रिपोर्ट करेंगे. ‘ट्रेन कैप्टन’ के निर्देशों का पालन नहीं करने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

‘रेलवे में 10 हजार RPF जवानों की होगी भर्ती, 1.30 लाख आने वाली नई वैंकेसीज के लिए नहीं देना होगा इंटरव्यू’

आरक्ष्‍ाण चार्ट में होगा ट्रेन कैप्‍टेन का नाम और नंबर
बता दें कि ट्रेन चलने से पहले आरक्षण चार्ट के माध्यम से ‘ट्रेन कैप्टन’ का नाम और संपर्क नंबर यात्रियों को उपलब्ध कराया जाएगा. यात्रा के दौरान, यात्रियों को ‘ट्रेन कैप्टन’ का नाम और संपर्क नंबर प्रदान करने के लिए ऑनबोर्ड घोषणाएं भी की जाएंगी. रेलवे बोर्ड की ओर से बताया गया कि राजधानी, शताब्दी, दुरंतो और अन्य ट्रेनों में पहले से कार्यरत गाड़ी पर्यवेक्षकों को ट्रेन कैप्टन के रूप में नामित किया गया है. ट्रेन कैप्टन टिकट जांच के अतिरिक्त गाड़ी में ऑन बोर्ड सभी प्रकार की सेवाओं और सुविधाओं के लिए उत्तरदायी होंगेट्रेन उन्होंने बताया कि अन्य गाड़ियों में जहां पर गाड़ी पर्यवेक्षक नहीं है वहां पर टिकट जांच कर्मचारियों में से सबसे वरिष्ठ कर्मचारी को ट्रेन कैप्टन बनाया जाएगा.