Also Read - बंगाल भाजपा प्रमुख ने कहा: तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को चौराहों पर जूतों से पीटा जायेगा

नई दिल्ली, 20 दिसम्बर | तृणमूल कांग्रेस ने शनिवार को बीमा क्षेत्र में सुधारों पर सख्त आपत्ति जताते हुए केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली पर हमला बोला, और बीसीसीआई की कार्यप्रणाली को सार्वजनिक करने की उन्हें चेतावनी दी।  राज्यसभा में तृणमूल के मुख्य सचेतक डेरेक ओब्रायन ने जेटली पर झूठ बोलने और चीजों को घुमा-फिराकर पेश करने का आरोप लगाया और कहा कि आठ में सात पार्टियां तथाकथित सुधारों के विरोध में एकजुट हैं। Also Read - Arun Jaitley Death Anniversary: अरुण जेटली की पुण्यतिथि पर भावुक हुए PM मोदी, कहा- 'मुझे अपने दोस्त की बहुत याद आती है'

ओब्रायन ने कहा, “संसद सत्र के दो दिन अभी शेष हैं। यदि जेटली सोचते हैं कि उन्होंने तृणमूल की ताकत देख ली है तो वह भूल कर रहे हैं। हमें खत्म करने के बारे में न सोचें, हम संसदीय लोकतंत्र में आपसे मुकाबला करेंगे। बीमा विधेयक कोई सुधार नहीं है। यह सिर्फ एक सुधार की बहानेबाजी है। हमें इन तथाकथित सुधारों की आवश्यकता नहीं है।” Also Read - DDCA Election: डीडीसीए में जल्‍द होगी अरुण जेटली के बेटे रोहन की एंट्री !

ओब्रायन ने जेटली की टिप्पणियों का जिक्र करते हुए कहा, “जेटली सप्ताहांत के बयानों के जरिए चीजों को तोड़ मरोड़ नहीं सकते।” जेटली ने आरोप लगाया था कि तृणमूल संसद में कार्यवाही बाधित कर रही है।  जेटली ने तृणमूल का नाम लिए बगैर शनिवार को कहा कि सरकार बीमा क्षेत्र के सुधार को आगे बढ़ाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा, “एक राजनीतिक दल इसमें रोड़ा अटका रहा है, और राज्यसभा में व्यवधान पैदा कर ध्यान बंटाने की कोशिश कर रही है।”

ओब्रायन ने जेटली को हताश मंत्री और झूठा मंत्री करार दिया। उन्होंने जेटली को चेतावनी दी कि वह कीचड़ उछालने की हरकत से बाज आएं और भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड बीसीसीआई की कार्यप्रणाली को सार्वजनिक करें। ओब्रायन ने कहा, “घोटाला न करें, क्योंकि हम भी कीचड़ उछाल सकते हैं। बीसीसीआई जैसे मुद्दे को सार्वजनिक करें। हमें पता चले कि बीसीसीआई में कौन प्रभारी है और कौन उसे संचालित कर रहा है।”

तृणमूल नेता ने कहा, “भाजपा पुराने रिकॉर्ड निकाल कर देखे कि उसने राज्यसभा को कितना बाधित किया था। इस तरह का गंदा खेल मत खेलिए। इसे गली का मैच मत बनाइए।”