नई दिल्ली: 59 चीनी एप सहित टिकटॉक पर प्रतिबंध लगाए जाने को लेकर देश के कई लोग अलग-अलग तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. एक्टर रहीं तृणमूल कांग्रेस की सांसद नुसरत जहां ने भी इसे लेकर प्रतिक्रिया व्यक्त की है. नुसरत जहां ने टिकटॉक का पक्ष लिया भी और नहीं भी लिया. Also Read - TikTok पर अमेरिका की बड़ी कार्रवाई, सरकारी उपकरणों में ऐप नहीं होगा इस्तेमाल, कंपनियां बंद करेंगी ट्रांजेक्शन

सांसद नुसरत जहां ने कहा कि टिकटॉक एक मनोरंजक एप है. जो भी फैसला लिया गया, वह गुस्से और आवेग में लिया गया. इसके पीछे क्या रणनीति है. आखिर उन लोगों का क्या होगा, जो इस प्रतिबंध के चलते बेरोजगार हो गए हैं. लोग उसी तरह संघर्ष करेंगे, जैसा नोटबंदी के बाद कर रहे थे. नुसरत ने कहा कि अगर ये राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए है तो मुझे इस प्रतिबंध से कोई दिक्कत नहीं है, लेकिन आखिर इन सवालों के जवाब कौन देगा. Also Read - TikTok को खरीदेगी दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट! जानिए भारतीयों को क्या होगा फायदा

नुसरत जहां ने ये बातें तब कहीं जब वह उल्टा रथ यात्रा जश्न में शामिल होंगे को कोलकाता स्थित इस्कॉन मंदिर पहुंची थीं. इसी दौरान पत्रकारों के सवालों के जवाब देते हुए ये बातें कहीं. नुसरत की इस बात पर लोग कई तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. कोई नुसरत की प्रतिक्रिया को संतुलित बता रहा है, नुसरत की तारीफ कर रहा है तो कई नुसरत की आलोचना भी कर रहे हैं. टिकटॉक पर रोजगार को लेकर लोग मजाक भी उड़ा रहे हैं.