Also Read - West Bengal Election 2021: बंगाल में चौथे चरण के चुनाव में 'खूनी खेल' मौत पर राजनीति जारी

कोलकाता, 26 जनवरी | पश्चिम बंगाल में सत्ताधारी दल, तृणमूल कांग्रेस ने सोमवार को अफसोस जताया कि राज्य की झांकी को नई दिल्ली में आयोजित देश के 66वें गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेने की अनुमति नहीं दी गई। राज्यसभा में तृणमूल कांग्रेस के मुख्य सचेतक डेरेक ओ ब्रायन ने ट्वीट कर कहा, “गणतंत्र दिवस पर बंगाल की झांकी को प्रदर्शित करने की अनुमति नहीं दी गई। इसमें लीक से हटकर ‘कन्या श्री’ पहल का चित्रण किया गया था। हमने बार-बार आग्रह किया..।” Also Read - ये क्या बोल गईं TMC उम्मीदवार कौशानी मुखर्जी, 'घर पर मां, बहन हैं तो वोट देने से पहले...; छिड़ा विवाद

इस बार रंगारंग परेड के मुख्य अतिथि बराक ओबामा थे। परेड में नरेंद्र मोदी सरकार की नई पहलों पर आधारित झांकियों को मुख्य तौर पर शामिल किया गया। ‘कन्या श्री’ पहल की शुरुआत 2013 में की गई थी। यह राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पसंदीदा परियोजना है। डिपार्टमेंट ऑफ इंटरनेशनल डेवलपमेंट ब्रिटेन और यूनीसेफ ने इस पहल का चयन 2014 में लंदन में हुए ‘गर्ल समिट’ में प्रदर्शित करने के लिए किया था। Also Read - West Bengal Election 2021 LIVE: व्हीलचेयर पर बैठ ममता करेंगी रोड शो, TMC का घोषणापत्र आज नहीं, इस दिन होगा जारी

इस योजना के तहत राज्य सरकार आठवीं कक्षा से 12वीं कक्षा तक पढ़ाई जारी रखने वाली लड़कियों को सालाना 500 रुपये छात्रवृत्ति उपलब्ध कराती है। अगर 18 साल से अधिक उम्र में भी लड़की पढ़ाई करती है और उसकी शादी नहीं हुई है तो 25,000 रुपये एकमुश्त उसके बैंक खाते में जमा कर दिए जाते हैं।