Live Updates

  • 1:42 PM IST

    त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में दोपहर 1 बजे तक 45.86 फीसदी मतदान हुआ.

  • 12:36 PM IST

    त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में 11 बजे तक 23.25% मतदान​ हुआ है.

  • 10:37 AM IST

  • 10:37 AM IST

    त्रिपुरा विधानसभा चुनाव के लिए वोटिंग जारी है. अगरतला के शिशु बिहार स्कूल के पोलिंग बूथ पर एक महिला व्हील चेयर पर वोट करने पहुंची है.

  • 9:55 AM IST

  • 9:55 AM IST

    त्रिपुरा के मुख्यमंत्री माणिक सरकार ने अगरतला के एक पोलिंग बूथ में अपना वोट डाल दिया है. सरकार धनपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं. 1998 से लगातार 4 बार से मुख्यमंत्री माणिक सरकार को इस बार बीजेपी से कड़ी चुनौती मिल रही है.

  • 9:42 AM IST

    त्रिपुरा विधानसभा चुनाव में सुबह 9 बजे तक 11 फीसदी मतदान हुआ है.

  • 9:29 AM IST

  • 9:28 AM IST

    अगरतला के भाटी अभय नगर के बूथ नंबर 6/20 में वोट देने के लिए बड़ी संख्या में लोग लाइन में खड़े हैं. इस सीट से बीजेपी नेता सुदीप रॉय बर्मन मौजूदा विधायक हैं. बर्मन हाल ही में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं. बर्मन 1998 से लगातार 4 बार से बड़े अंतर से चुनाव जीत रहे हैं. बीजेपी में आने से पहले बर्मन कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस में भी रह चुके हैं. सुदीप रॉय बर्मन त्रिपुरा के पूर्व मुख्यमंत्री समीर रंजन बर्मन के बेटे हैं

  • 9:00 AM IST

अगरतला: त्रिपुरा विधानसभा की 60 में से 59 सीटों पर वोटिंग शुरू हो गई है. वोटिंग सुबह 7 बजे से शाम 4 बजे तक होगी. क्या बीजेपी त्रिपुरा में इस बार वाम दल का लाल किला तोड़ पाएगी, इसका फैसला जनता आज कर देगी. 3,214 मतदान केंद्रों पर वोट डाले जा रहे हैं. चुनाव परिणाम 3 मार्च को घोषित होंगे. 25 साल से सत्ता पर काबिज सीपीएम के सामने सबसे बड़ी चुनौती अपनी सरकार बचाने की है. चरीलम विधानसभा सीट से माकपा के उम्मीदवार रामेंद्र नारायण देब बर्मा की पांच दिन पहले हुई मौत के कारण इस सीट पर चुनाव 12 मार्च को होगा. Also Read - मोदी सरकार 02 का एक साल: बीजेपी देश की जनता के बीच बताएगी ये उपलब्धियां

इन चुनावों में कुल 307 उम्मीदवार दौड़ में हैं. माकपा 57 सीटों पर चुनाव लड़ रही है जबकि अन्य वामपंथी दल आरएसपी, फॉरवर्ड ब्लॉक और भाकपा ने एक-एक सीट पर उम्मीदवारी दर्ज कराई है. कांग्रेस 59 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. पार्टी ने गोमती जिले के काक्राबोन विधानसभा सीट से किसी भी उम्मीदवार को मैदान में नहीं उतारा है. सुबह सुबह ही लोग मतदान केंद्र के बाहर लाइन लगा चुके हैं. मतदान केंद्र के बाहर खड़े लोगों का कहना है कि वो ऐसी सरकार चाहते हैं जो विकास कार्यों को गति दे सके. Also Read - ग्वालियर में लगे ज्योतिरादित्य सिंधिया के गुमशुदगी के पोस्टर्स, लिखा- 'गुमशुदा जन सेवक की तलाश...'

पिछले विधानसभा चुनावों में खाता भी न खोल पाने वाली बीजेपी इस बार वाम पार्टी के सामने प्रमुख दावेदार के तौर पर उभरी है. बीजेपी की दमदार एंट्री से इस बार त्रिपुरा का मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है. अनुसूचित जनजातियों के लिए 20 सीटें आरक्षित हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर त्रिपुरा के लोगों से और खासकर नौजवान मतदाताओं से वोट करने की अपील की है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राज्य में चार रैलियों को संबोधित किए जाने के साथ ही भाजपा ने यहां जमकर प्रचार-प्रसार किया है. इस प्रचार में भगवा पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, अरुण जेटली, नितिन गडकरी और स्मृति ईरानी व उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसे दिग्गज नेता शामिल हुए थे.

पांचवी बार मुख्यमंत्री बनने की दौड़ में शामिल माणिक सरकार ने माकपा के प्रचार अभियान का नेतृत्व करते हुए राज्य में करीब 50 रैलियों को संबोधित किया. सीताराम येचुरी और बृंदा करात जैसे अन्य वामपंथी नेताओं ने भी पार्टी के इस अभियान में हिस्सा लिया था. कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रचार के आखिरी दिन उनाकोटी जिले के कैलाशहर में एक रैली को संबोधित किया था.