अगरतला. त्रिपुरा के सीएम बिप्लव देब ने युवाओं को सुझाव देते हुए कहा है कि सरकारी नौकरी के लिए नेताओं के पीछे न भागें. उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मुद्रा योजना का लाभ उठाते हुए बैंकों से लोन लेकर अपना काम करना चाहिेए. उन्होंने कहा, यहां के युवा कई साल से राजनैतिक पार्टियों के नेताओं के पीछे नौकरी के लिए भागते रहे. उन्होंने अपना महत्वपूर्ण समय बर्बाद कर दिया. इसी दौरान कुछ युवाओं ने पार्टी के नेताओं के पीछे भागने की जगह पान की दुकान खोल लेते तो एकाउंट में 5 लाख रुपये होते.

बिप्लब देब अगरतला में पशुपालन दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे. उन्होंने कहा, लोग सोचते हैं कि ग्रेजुएट स्टूडेंट खेती नहीं कर सकता. मुर्गी पालन नहीं कर सकता. इससे उसका स्तर नीचे चला जाएगा. विकास के लिए इस तरह के रोजगार महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं. इसे अपनाने से हिचकना नहीं चाहिए.

कुछ दिन पहले पूर्व विश्व सुंदरी डायना हेडेन को लेकर अपनी टिप्पणी से विवाद उत्पन्न करने वाले बिप्लब देब ने कहा था कि मैकेनिकल इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि वाले लोगों को सिविल सेवाओं का चयन नहीं करना चाहिए. देब ने एक कार्यक्रम में कहा, ‘मैकेनिकल इंजीनियरिंग पृष्ठभूमि वाले लोगों को सिविल सेवाओं का चयन नहीं करना चाहिए. समाज का निर्माण करना है. सिविल इंजीनियरों के पास यह ज्ञान है, क्योंकि जो लोग प्रशासन में हैं उनको समाज का निर्माण करना है.’

उन्होंने कहा था कि पहले कला स्नातक सिविल सेवा परीक्षा में बैठते थे और अब मेडिकल और इंजीनियरिंग स्नातक सेवा में आ रहे हैं. उन्होंने कहा था कि सिविल सेवा अधिकारी हरफनमौला होने चाहिए क्योंकि ‘‘ सभी क्षेत्रों के विशेषज्ञों की सबसे अधिक मांग है.’’ देब ने डायना हेडेन को 1997 में विश्व सुंदरी का खिताब दिए जाने पर सवाल उठाया था और आरोप लगाया था कि अंतरराष्ट्रीय सौंदर्य प्रतियोगिता एक ढोंग है.