नई दिल्ली: त्रिपुरा के मुख्यमंत्री एवं वरिष्ठ भाजपा नेता बिप्लब कुमार देब के इस दावे पर ट्विटर उपयोक्ताओं ने जबरदस्त प्रतिक्रिया की और उनका भरपूर मजाक उड़ाया कि इंटरनेट महाभारत के दिनों में भी मौजूद था. जहां ट्विटर उपयोक्ताओं के एक हिस्से ने देब के दावे का मजाक उड़ाने के लिए तंज का उपयोग किया, दूसरों ने कटाक्ष भरे ट्वीट डाले.

@naina4ucozy के हैंडल वाले एक उपयोक्ता ने लिखा, ‘‘त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब कहते हैं कि इंटरनेट महाभारत के समय था तो क्या उस समय वह संचार मंत्री थे? शुक्र है भगवान का उन्होंने नहीं कहा कि उन्होंने जिम में भीम को प्रशिक्षण दिया था.’’

यूजर्स ने भाजपा नेता के बयान का मजाक उड़ाने के लिए हिंदू धर्मग्रंथ से कृष्ण, अर्जुन और द्रौपदी जैसे किरदारों का वर्णन किया. एक अन्य उपयोक्ता @ThePolanator ने ट्वीट किया, ‘‘अगर बिप्लब देब के अनुसार इंटरनेट महाभारत के समय मौजूद था, मुख्य सवाल है कि द्रौपदी का पसंदीदा स्नैपचैट फिल्टर क्या था?’’

यूजर @anumakondaj ने कहा, ‘‘सहस्राब्दी का सबसे बड़ा चुटकुला. कल कोई और भाजपा नेता दावा करेगा कि महाभारत में मोबाइल फोन था, अन्यथा कैसे धर्मराज ने यक्ष के सवालों का जवाब दिया, बेशक केवल लाइफ लाइन मांग कर.’’

इस क्रम में @ArreTweets ने पोस्ट किया, ‘‘महाभारत के युग में इंटरनेट : महाभारत के बारे में त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब की परिभाषा … जब कृष्ण ने गुगल मैप्स का उपयोग किया और अर्जुन का डेटा खत्म हो गया. #InternetMahabharata’’

एक अन्य उपयोक्ता @Abidebyconstitn ने कहा, ‘‘महाभारत में इंटरनेट था – त्रिपुरा मुख्यमंत्री बिप्लब देव … शुक्र है उन्होंने नहीं कहा कि भीष्म पितामह आज मौजूद हैं.’’

उधर एक अन्य उपयोक्ता @KumarShreshtha के पास भाजपा नेता के लिए सवाल था, ‘‘… कृपया, क्या आप जवाब दे सकते हैं कि रामायण या महाभारत में पहले क्या हुआ? आप जैसे खुले दिमाग वाले जो दावा करते हैं उसके पक्ष में कोई साइटेशन?’’

बहरहाल, कुछ ने देब के पक्ष में भी ट्विट किया. यूजर @ippatel ने लिखा, ‘‘त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब देब ने वैदिक विज्ञान के बारे में कहा था, आप इसे इंटरनेट कह सकते हैं या वाईफाई या कुछ और. महाभारत के दौरान परमाणु हथियारों का उपयोग किया गया और हड़प्पा, मोहनजोदड़ो परमाणु युद्ध के चलते तबाह हुए. @BjpBiplab’’

गौरतलब है कि त्रिपुरा के सीएम बिप्लव देब ने इंटरनेट के विकास को लेकर एक नई वैज्ञानिक व्याख्या की है. उन्होंने कहा है कि इंटरनेट आज के समय में ही नहीं महाभारत के समय में भी था. लोग उस समय भी इसका प्रयोग किया करते थे. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि सेटेलाइट भी उस समय था.  इकॉनमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, एक सार्वजनिक कार्यक्रम में विप्लव देव ने कहा, भारत पुरातन काल से इंटरनेट का प्रयोग कर रहा है. महाभारत में ही देख लीजिए. संजय अंधे थे, लेकिन युद्ध के मैदान में क्या हो रहा है वह इसकी जानकारी धृतराष्ट्र को देते थे. यह सिर्फ इंटरनेट और सेटेलाइट की वजह से ही संभव था. उन्होंने कहा कि उस काल में सेटेलाइट भी था.