यूरोपीय संघ के सांसदों के प्रतिनिधिमंडल के दौरे से एक दिन पहले सोमवार को जम्मू कश्मीर के अनंतनाग जिले में संदिग्ध आतंकवादियों ने एक ट्रक ड्राइवर की हत्या कर दी. अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को खत्म किए जाने के बाद से कश्मीर में यह चौथी घटना है जब किसी ट्रक चालक की हत्या की गई है. इस संबंध में एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग जिले में बिजबेहरा के कानिलवान इलाके में शाम को आतंकवादियों ने ट्रक ड्राइवर नारायण दत्त पर गोलियां चलायीं. दत्त की मौके पर मौत हो गयी. दत्त उधमपुर के कटरा का रहने वाला था.

पुलिस के अनुसार एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तुरंत घटनास्थल पर पहुंचे और उन्होंने दो अन्य ड्राइवरों की जान बचायी. पुलिस के अनुसार सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया है और हमलावरों की धर-पकड़ के लिये अभियान शुरू किया गया है. यह हमला यूरोपीय संघ के 27 सांसदों के प्रतिनिधिमंडल के राज्य के दौरे से एक दिन पहले हुआ है.

प्रतिनिधिमंडल स्थानीय लोगों से बात करना चाहता है और केंद्र के निर्णयों के बाद उनके अनुभव के बारे में जानना चाहता है. सरकार ने कहा है कि कूटनीतिक पहल से यूरोपीय संघ के नेताओं को कश्मीर में ‘‘खुद ही चीजें देखने’’ का मौका मिलेगा और पाकिस्तान के दुष्प्रचार का मुकाबला करने में मदद मिलेगी. दत्त की हत्या के पहले ट्रक ड्राइवरों और बाहरी लोगों पर आतंकवादियों द्वारा कई हमले किए गए हैं.

आतंकवादियों ने 24 अक्टूबर को शोपियां जिले में दो गैर-कश्मीरी ट्रक ड्राइवरों की हत्या कर दी थी. एक संदिग्ध पाकिस्तानी नागरिक सहित दो आतंकवादियों ने 14 अक्टूबर को राजस्थान के नंबर वाले एक ट्रक के चालक की गोली मारकर हत्या कर दी थी और शोपियां जिले में एक बाग मालिक पर हमला किया था. दो दिनों बाद पंजाब के सेब व्यापारी चरणजीत सिंह की हत्या कर दी गयी थी. उसी दिन पुलवामा जिले में आतंकवादियों ने छत्तीसगढ़ के एक ईंट भट्ठा श्रमिक की गोली मारकर हत्या कर दी थी.

(इनपुट भाषा)