पटना: केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संशोधित नागरिकता कानून और प्रस्तावित राष्ट्रव्यापी एनआरसी के मद्देनजर ‘‘प्रायोजित’’ विरोध प्रदर्शनों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई किये जाने की प्रतिबद्धता जताई. उन्होंने दावा किया कि इन प्रदर्शनों का ‘‘टुकड़े टुकड़े गैंग’’ और ‘‘अर्बन नक्सलियों’’ द्वारा समर्थन किया जा रहा है.Also Read - Parliament Monsoon Session 2021: अभी तैयार नहीं हुए CAA के नियम, केंद्र ने कहा- 6 महीने और लगेंगे

विधि एवं न्याय मंत्री प्रसाद ने यहां संवाददाता सम्मेलन में इस मुद्दे पर ‘‘वोट बैंक की राजनीति’’ के लिए कांग्रेस पर ढोंग करने और दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया. उन्होंने इस मामले पर राजग के भीतर व्यापक विचार-विमर्श के सुझावों को खारिज कर दिया. Also Read - CAA और NRC को लेकर RSS प्रमुख मोहन भागवत का बड़ा बयान- देश के मुसलमानों को दिया यह भरोसा

प्रसाद ने कहा, ‘‘हम राजग के सभी घटक दलों के शीर्ष नेतृत्व के साथ संपर्क में हैं. पार्टी के प्रवक्ता जो कहते हैं, उसके बहुत अधिक मायने नहीं है.’’ वह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जद (यू) के महासचिव और मुख्य प्रवक्ता के सी त्यागी द्वारा दिये गये एक बयान के बारे में पूछे गये एक सवाल का जवाब दे रहे थे. त्यागी ने एनआरसी को लेकर भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन की एक बैठक की वकालत की थी. Also Read - Modi Cabinet Reshuffle: मंत्रिपरिषद से इस्तीफा देने वालों में से कुछ नेताओं को मिल सकती है संगठन में बड़ी जिम्मेदारी!

किसी का नाम लिये बगैर प्रसाद ने कुमार समेत कई मुख्यमंत्रियों के बयानों पर आपत्ति जताई. कुमार ने घोषणा की थी कि एनआरसी को उनके राज्य में लागू नहीं किया जायेगा.

(इनपुट भाषा)