मुंबई के गोवंडी स्थित शिवाजी नगर में एक 12 वर्षीय छात्र ने अपने स्कूल प्रिंसिपल की चाकू मारकर हत्या कर दी. दोस्तों के सामने प्रिंसिपल की डांट से लड़का नाराज था.  उसे यह बात इतनी बुरी लगी कि उसने प्रिंसिपल के घर में ही कथित तौर पर उन्हें चाकू से गोदकर हत्या कर दी. इलाज के लिए महिला प्रिंसिपल को अस्पताल ले जाने पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.

पीड़िता 30 वर्षीय आयशा असलम हुसुये (Ayesha Aslam Husuyae) पिछले पांच सालों से अपने घर पर लड़के को ट्यूशन पढ़ा रही थीं. डोंगरी के रिमांड होम में भेजे गए नाबालिग ने पुलिस को बताया कि उसकी मां ने सोमवार को प्रिंसिपल से  2,000 रुपये उधार मांगने को कहा था. सोमवार को ही स्कूल के बाद लड़के ने प्रिंसिपल से पैसे मांगे, तो उन्होंने उसे उसके दोस्तों के सामने ही फटकार लगा दी. पुलिस अधिकारी ने बताया कि लड़के का कहना है कि उस वक्त उसने अपमानित महसूस किया.

इससे बाद वह रात के 8 बजे ट्यूशन के लिए अपनी प्रिंसिपल के घर गया. वह अपने साथ चाकू लेकर पहुंचा था. उसने उसी चाकू से प्रिंसिपल पर वार कर दिया. प्रिंसिपल के अलार्म बजाने के बाद पड़ोसी वहां पहुंचे. पड़ोसियों ने घायल महिला को  अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. पुलिस के मुताबिक महिला अपने पति से अलग होने के बाद अकेली रहती थीं.

पुलिस ने कहा कि जब पड़ोसी प्रिंसिपल के घर के अंदर गए तो वह लड़का भी वहीं मौजूद था. लड़का अपना बयान बार-बार बदल रहा है. प्रिंसिपल के परिवारवालों कहना है कि यह हत्या एक बड़ी साजिश का हिस्सा है. प्रिंसिपल के पिता की साल 2010 में एक कथित संपत्ति विवाद में हत्या कर दी गई थी.