बांदा (उप्र): मध्य प्रदेश के चित्रकूट से एक स्कूल बस से सरेआम तमंचे के बल पर अपहृत किए गए दो जुड़वां बच्चों के जंजीर से बंधे हुए शव बांदा जिले के मर्का थाना क्षेत्र में यमुना नदी से पुलिस ने रविवार की सुबह बरामद किए हैं. इस मामले में पुलिस कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. मासूम जुड़वा भाइयों की हत्या पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने दुख व्यक्त करते हुए कहा कि आरोपियों को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी. कमलनाथ ने कहा कि इस हृदय विदारक घटना से मन व्यथित है. अपरोपियों को इस जघन्य कृत्य के लिए बख्शा नहीं जाएगा, आरोपियों को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी. उन्होंने बच्चों के पिता बृजेश रावत से फोन पर बात कर शोक संवेदना व्यक्त की और आश्वस्त किया कि इस घटना के आरोपियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी.


बांदा के पुलिस अधीक्षक गणेश प्रसाद साहा ने रविवार को बताया कि ‘मध्य प्रदेश के चित्रकूट (सतना जिला) में तेल व्यवसायी बृजेश रावत के जानकीकुंड सद्गुरु पब्लिक स्कूल में पढ़ने वाले दो जुड़वां बच्चों देवांग व शिवांग (9) का 12 फरवरी की दोपहर फिल्मी स्टाइल में स्कूल बस से तमंचे के बल पर बाइक सवार बदमाशों ने अपहरण कर लिया था. उन्होंने बताया कि इन बच्चों के शव रविवार तड़के चार बजे मर्का थाना क्षेत्र के औगासी गांव के नजदीक यमुना नदी से बरामद किए गए हैं. उन्होंने कहा कि बदमाशों ने दोनों बच्चों को लोहे की जंजीर में एक साथ बांध कर जिंदा पानी में फेंका था.


उन्होंने बताया कि मध्य प्रदेश की सतना पुलिस और विशेष कार्य बल (एसटीएफ) कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है. बच्चों के अपहरण में शामिल ग्रामोदय विश्वविद्यालय चित्रकूट में पढ़ने वाले छात्रों की निशानदेही पर बच्चों के शव बरामद किए गए हैं. एसपी ने कहा कि बच्चों के शवों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है, आगे की कार्रवाही सतना (म.प्र) पुलिस करेगी.