Uttar Pradesh Crime: पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद उर्फ कृष्णपाल सिंह पर लगे रेप के आरोप से जुड़े मामले में बड़ा ट्विस्ट आया है. इस मामले में स्वामी चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली एलएलएम की छात्रा कोर्ट में अपने आरोपों से ही मुकर गई. इसके बाद इस मामले में अब नया मोड़ आ गया है. Also Read - UP Crime News: कानपुर में घर में घुसकर बंदूक की नोक पर दलित युवती से गैंगरेप

लॉ की छात्रा के इस बयान से हैरान अभियोजन पक्ष ने अब उसे पक्षद्रोही घोषित करते हुए अदालत में उसके खिलाफ  धारा 340 के तहत झूठा बयान देने के आरोप में मुकदमा चलाने की अर्जी दाखिल की है. अब इस केस पर जज पीके राय ने निर्देश दिया कि अभियोजन पक्ष के कार्रवाई के आवेदन को स्वीकार किया जाए और इस आवेदन की कॉपी पीड़िता और आरोपी को भी सौंपी जाए. मामले की अगली सुनवाई 15 अक्टूबर को होगी. Also Read - Hathras: UP के हाथरस में एक और दरिंदगी- अब 4 साल के मासूम से रिश्तेदार ने ही किया रेप

बता दें कि मंगलवार को 23 वर्षीय छात्रा लखनऊ की विशेष एमपी-एमएलए स्पेशल जज पवन कुमार राय के सामने हुई. इस दौरान एलएलएम की छात्रा ने इस बात से स्पष्ट रूप से इनकार किया कि उसने पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ कोई आरोप लगाया था. इस तरह से अदालत में अपने पहले के सभी आरोपों से पलट गई है. Also Read - पूर्व केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री स्‍वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण का आरोप लगाने वाली लॉ स्‍टूडेंट अपने बयान से पलटी

बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर रेप के आरोप में फंसे स्वामी चिन्मयानंद केस की सुनवाई लखनऊ के विशेष एमपी-एमएलए कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हो रही है.

अर्जी में कहा गया है कि 5 सितंबर-2019 को छात्रा ने खुद नई दिल्ली के थाना लोधी कॉलोनी थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी, जिसे पीड़िता के पिता द्वारा शाहजहांपुर में दर्ज कराई गई रिपोर्ट के साथ जोड़  दिया गया था. इसके बाद एसआईटी ने पीड़िता का बयान दर्ज किया था. इसके बाद शाहजहांपुर में  मजिस्ट्रेट के सामने उसका कलमबंद  बयान दर्ज हुआ था. इन दोनों बयानों में छात्रा ने घटना को सही बताया था.

बीते नौ अक्तूबर को कोर्ट में इस मामले की गवाही में उसने जान-बूझकर अपना बयान बदल दिया है. इसने अभियुक्त के साथ समझौता कर लिया है. लिहाजा इसके खिलाफ  सीआरपीसी की धारा 340 के तहत कार्रवाई की जाए.

बता दें कि पिछले साल शाहजहांपुर के स्वामी शुकदेवानंद विधि महाविद्यालय में पढ़ने वाली एलएलएम की छात्रा ने एक वीडियो में स्वामी चिन्मयानंद पर यौन शोषण के गंभीर आरोप लगाए थे. इस कॉलेज को स्वामी चिन्मयानंद का ट्रस्ट चलाता है. इस मामले में आरोपी स्वामी चिन्मयानंद की मुमुक्ष आश्रम से गिरफ्तारी हुई थी. एसआईटी ने यूपी पुलिस के साथ मिलकर सितंबर में चिन्मयानंद को आश्रम से गिरफ्तार किया था.