नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी के दो एमएलए को पुलिस ने मंगलवार को राजभवन से जबरन निकाल दिया. ये दावा आप के दो विधायकों का है कि वे मीटिंग के लिए राजभवन पहुंचे थे लेकिन पुलिस से इन्हें बाहर करवा दिया गया. वहीं राज निवास की ओर से जारी बयान में इन विधायकों को समझा-बुझाकर बाहर करने का दावा किया है.

विधायक सोमनाथ भारती और एस.के. बग्गा को मंगलवार उपराज्यपाल अनिल बैजल के आवास से जबरन बाहर निकाला गया, क्योंकि उन्होंने एक बैठक के बाद वहां से जाने से इंकार कर दिया था. बैजल दिल्ली मास्टर प्लान-2021 पर जनता के सुझावों और टिप्पणियों पर विचार करने के लिए अपने निवास सह कार्यालय, राज निवास में दिल्ली विकास प्राधिकरण की एक बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे.

राज भवन का दावा समझा-बुझा का बाहर भेजा
राज निवास की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया है, “बैठक समाप्त होने के बाद, दोनों विधायकों ने मुख्यमंत्री के धरना में शामिल होने के लिए राज निवास परिसर से जाने से इंकार कर दिया.” बयान में कहा गया है, ”विधायकों से बार-बार अनधिकृत परिसर से बाहर जाने का अनुरोध किया गया. लेकिन वे लगभग दो घंटों तक वहीं बने रहे और काफी समझाने के बाद वे परिसर से बाहर गए.” हालाकि, भारती ने राज्यपाल पर उन्हें उनके राज निवास से जबरन बाहर निकालने का आरोप लगाया.

भारती ने ट्वीट किया, “शर्म की बात है कि उपराज्यपाल ने हमें दो मिनट सुनने के बजाय हमें बाहर निकालने के लिए एसीपी त्यागी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल का इस्तेमाल किया.” उन्होंने कहा, “सर्वाधिक सक्षम लोकतांत्रिक औजार संवाद के लिए संभवत: मोदी युग में कोई स्थान नहीं है.” (इनपुट- एजेंसी)