Also Read - सात महीने की हिरासत के बाद रिहा होंगे उमर अब्दुल्ला, जम्मू-कश्मीर सरकार ने जारी किए आदेश

श्रीनगर, 18 जनवरी | जम्मू एवं कश्मीर के सोपोर कस्बे में रविवार को सुरक्षाबलों व आतंकवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) के दो आतंकवादी मारे गए। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यहां आईएएनएस को बताया, “आतंकवादियों के छिपे होने की सूचना मिलने पर रविवार को राष्ट्रीय राइफल्स, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल और राज्य पुलिस के जवानों ने सोपोर के सैदा पोरा इलाका को घेर लिया।” Also Read - फारूक अब्दुल्ला ने PM मोदी को लिखा पत्र, 4G इंटरनेट सेवाओं को बहाल करने की मांग

उन्होंने कहा, “सुरक्षाबल जैसे ही आतंकवादी ठिकाने के पास पहुंचे, आतंकवादियों ने अंधाधुंध गोलीबारी शुरू कर दी। उसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। मुठभेड़ में मोहम्मद रमजान और असदुल्लाह नामक दो आतंकवादी मारे गए।” पुलिस अधिकारी ने कहा, “मारे गए दोनों आतंकवादी लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े हुए थे।” उन्होंने कहा, “असदुल्लाह ने पिछले साल घुसपैठ की थी। वह एलईटी समूह का कमांडर था। वह अपने समूह में आतंकवादियों की भर्ती करने में प्रमुख भूमिका निभाता था। वह कुपवाड़ा जिले में सक्रिय था और पिछले माह ही सोपोर आया था। वह सोपोर में एलईटी के पांव जमाने की योजना बना रहा था।” Also Read - SC ने केंद्र और जम्मू कश्मीर प्रशासन से पूछा- क्या अगले हफ्ते उमर अब्दुल्ला रिहा हो रहे हैं..?

पुलिस अधिकारी ने कहा, “रमजान कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) समूह का हिस्सा था। उसने 2013 में घुसपैठ की थी..वह उत्तर कश्मीर में एलईटी में शामिल हुए जेईएम के दो आतंकवादियों में से एक था।”

उन्होंने कहा, “आतंकवादियों के कब्जे से दो राइफलें, दो मैगजीन व अन्य विस्फोटक सामग्री बरामद हुए हैं।”