नई दिल्ली: एअर इंडिया एक्सप्रेस ने शनिवार को बताया कि उसके विमान के शुक्रवार को दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण प्रभावित हुए यात्रियों और उनके परिजन की सहायता के लिए केरल के कोझिकोड तक तीन राहत उड़ानों का प्रबंध किया गया है. अधिकारियों ने बताया कि नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी शनिवार को कोझिकोड जाएंगे. Also Read - कल से फिर दुबई के लिए शुरू होंगी एयर इंडिया एक्सप्रेस की उड़ानें, केवल 24 घंटे का लगा 'प्रतिबंध'

बी737 द्वारा दुबई से संचालित उड़ान संख्या आईएक्स 1344 कोझिकोड में शुक्रवार शाम सात बजकर 41 मिनट पर हवाईपट्टी से फिसल गई थी. विमान में 10 नवजात शिशुओं समेत 184 यात्री, दो पायलट और चालक दल के चार सदस्य सवार थे. इस हादसे में कम से कम 21 लोगों की मौत हो गई है. Also Read - DGCA ने हवाई यात्रा के दौरान Photography और Videography करने की दी छूट, लेकिन अब नहीं कर पाऐंगे ये काम

Kerala Governor, Arif Mohammad Khan visits Kozhikode Airport

एक बयान में बताया गया है कि एअर इंडिया के अध्यक्ष एवं प्रबंधक निदेशक राजीव बंसल और एअर इंडिया एक्सप्रेस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के. श्याम सुंदर पहले ही कोझिकोड पहुंच चुके हैं. इस बीच विमान जांच ब्यूरों ने मलबे से डिजिटल फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर और कॉकपिट वाइस रिकॉर्डर हांसिल कर लिया है.

एअर इंडिया ने ट्वीट किया कि वरिष्ठ विमानन अधिकारियों के साथ बंसल ‘‘हालात का जायजा लेने दुर्घटनास्थल पहुंचे और विशेषज्ञ उन्हें स्थिति की जानकारी दे रहे हैं’’. विमानन कंपनी ने बताया कि सभी यात्रियों और उनके परिजन को मानवीय सहायता मुहैया कराने के लिए मुंबई से एक और दिल्ली से दो विशेष राहत उड़ानों की व्यवस्था की गई है.

उसने एक बयान में कहा, ‘‘आपात प्रतिक्रिया निदेशक आपातकाल में प्रभावी प्रतिक्रिया के लिए कालीकट (कोझिकोड), मुंबई, दिल्ली और दुबई में एजेंसियों के साथ समन्वय स्थापित कर रहे हैं.’’ कंपनी ने कहा, ‘‘एएआईबी (विमान दुर्घटना जांच ब्यूरो), डीजीसीए (नागर विमानन महानिदेशालय) और उड़ान सुरक्षा विभाग के अधिकारी हादसे की जांच के लिए पहुंच चुके हैं.’’

कंपनी ने बताया कि उसके परिचालन प्रमुख और उड़ान सुरक्षा प्रमुख पहले ही कोझिकोड पहुंच चुके हैं. कंपनी ने कहा, ‘‘चालक दल के चारों सदस्यों के सुरक्षित होने की पुष्टि हुई है.’’ दुर्घटनाग्रस्त हुआ विमान बोइंग 737 था.

विमान निर्माता कंपनी बोइंग ने हादसे में मारे गए लोगों के परिजन के प्रति ‘‘गहरी संवेदना’’ व्यक्त करते हुए कहा कि वह एअर इंडिया के दल के संपर्क में है और वह हर संभव मदद मुहैया कराएगी. अमेरिकी कंपनी ने कहा, ‘‘भारत का नागर विमानन महानिदेशालय जांच कर रहा है. ऐसे में बोइंग ‘आईसीएओ अनेक्स 13’ के दिशानिर्देशानुसार अमेरिकी राष्ट्रीय परिवहन सुरक्षा बोर्ड की सहायता के लिए तकनीकी दल मुहैया कराने को तैयार है.’’