मुंबई: कर्नाटक में हुई राजनीतिक उथलपुथल का असर अब महाराष्ट्र में भी दिखने लगा है. शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने भाजपा पर निशाना साधते हुए शुक्रवार को कहा कि केन्द्र को राज्यपालों की तरह ही मुख्यमंत्रियों की भी नियुक्ति कर देनी चाहिए. उन्होंने कहा कि ‘ लोकतंत्र का अनादर किया जा रहा है.’ ठाकरे ने उल्हासनगर में एक रैली में कहा , ‘‘ अगर लोकतंत्र का अनादर ही किया जाना है तो एक लोकतांत्रिक देश कहने का क्या फायदा है ? चुनाव कराना बंद कर देना चाहिए ताकि प्रधानमंत्री मोदी बिना किसी बाधा के विदेशी दौरे पर जा सकें. ’’ Also Read - 'महाराष्ट्र में अगले 2-3 माह में सरकार बना लेगी बीजेपी, तैयारी हो गई है'

Also Read - जिस रिपोर्ट में हैं दाऊद इब्राहिम से बड़े नेताओं के संबंधों का ज़िक्र, बीजेपी नेता ने उसे सार्वजनिक करने की मांग की

ये भी पढ़ें: रिसॉर्ट की सुरक्षा हटाने के बाद विधायकों को फिर से प्रलोभन का आरोप, कोच्चि और हैदराबाद भेजे गए कांग्रेस-जेडीएस MLA Also Read - बीजेपी शासित इस राज्‍य में दिवाली पर पटाखे फोड़ने पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा, सीएम ने की घोषणा

उन्होंने कहा , ‘‘ चुनाव कराना बंद कर दीजिये, ताकि समय और धन की बचत हो सके. मुख्यमंत्रियों को राज्यपालों की तरह नियुक्त कर दें. ’’ बता दें कि गुरूवार को बीजेपी के बी.एस. येदियुरप्पा के शपथ लेनेके बाद से ही देश की राजनीति गर्मा गई है. कांग्रेस का भी कहना है कि बीजेपी कांग्रेस-जेडी(एस) के विधायकों को पैसों का लालच दिया जा रहा है. उधर बीजेपी का कहना है कि चुनाव के नतीजों में सबसे बड़ी पार्टा बनने के आधार पर कर्नाटक के राज्यपाल ने सरकार बनाने और 15 दिन में बहुमत साबित करने को कहा है.

ये भी पढ़ें: कर्नाटक संकट ही नहीं इन मामलों में भी आधी रात को खुला सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा

उधर कांग्रेस का कहना है अगर यही पैमाना है तो उसे गोवा में उन्हें सरकार बनाने का मौका दिया जाए. बता दें कि मंगलवार को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से ही कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन बीजेपी खेमे द्वारा विधायकों की खरीद-फरोख्‍त की कोशिश के आरोप लगा रहा है. गुरुवार शाम को भी निवर्तमान मुख्‍यमंत्री एस सिद्धारमैया ने बीजेपी पर धनबल के इस्‍तेमाल का आरोप लगाया.