नई दिल्ली: महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात के बाद कहा कि सीएए से डरने की जरूरत नहीं है और एनपीआर से किसी को भी देश से बाहर नहीं निकाला जाएगा. महाराष्ट्र में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की गठबंधन सरकार का मुख्यमंत्री बनने के बाद ठाकरे की मोदी से यह पहली बैठक थी. Also Read - Coronavirus: PM मोदी ने कोविड-19 स्थिति पर इन 4 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की बात

  Also Read - भारत-यूरोपीय संघ के बीच ऐतिहासिक बैठक, विशेष आमंत्रण पर शामिल हुए पीएम मोदी; कई अहम मुद्दों पर हुई चर्चा

ठाकरे ने प्रधानमंत्री से मुलाकात के बाद कहा, ‘महाराष्ट्र के मुद्दों पर प्रधानमंत्री के साथ चर्चा अच्छी रही. मैंने प्रधानमंत्री के साथ सीएए, एनपीआर और एनआरसी पर भी चर्चा की. सीएए से किसी को डरने की जरूरत नहीं. एनपीआर से किसी को भी देश से बाहर नहीं निकाला जाएगा. उन्होंने गठबंधन सरकार में टकराव से इनकार करते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार पांच साल का कार्यकाल पूरा करेगी. इससे पहले कयास लगाए जा रहे थे कि कांग्रेस और राकांपा एनपीआर और सीएए पर मुख्यमंत्री के रुख को लेकर नाराज हैं.

गठबंधन सरकार में शामिल सहयोगी दलों के बीच कोई टकराव नहीं
ठाकरे ने कहा कि गठबंधन सरकार में शामिल सहयोगी दलों के बीच कोई टकराव नहीं है. हम पांच साल सरकार चलाएंगे. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने उन्हें महाराष्ट्र सरकार को हर तरह का सहयोग देने का आश्वासन दिया है.