ठाणे| शिवसेना अध्यक्ष उद्वव ठाकरे ने दिवंगत क्रांतिकारी और स्वतंत्रता सेनानी विनायक दामोदर सावरकर को देश का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ देने की रविवार को मांग की है। महाराष्ट्र के ठाणे में शिवसेना प्रमुख, सावरकर की लेखनी पर आयोजित तीन दिवसीय सम्मेलन के समापन समारोह में बोल रहे थे। Also Read - महाराष्ट्र में बंद नहीं होंगे सरकारी ऑफिस, CM उद्धव ठाकरे बोले- सार्वजनिक परिवहन खुले रहेंगे

उद्वव ने यहां कहा, ‘‘इस मांग (सावरकर के लिए भारत रत्न) में हम सब साथ हैं और विपक्ष के कुछ नेता भी (महाराष्ट्र में) सावरकर के लिए सर्वोच्च सम्मान चाहते हैं। अब हमें इसे सच बनाने के लिए काम करना है।’’
उन्होंने मांग की कि कालापानी की सजा के दौरान सावरकर को अंडमान निकोबार स्थित सेलुलर जेल की जिस कोठरी में रखा गया था, उसकी एक प्रतिकृति मुंबई में बननी चाहिए। Also Read - महाराष्ट्र में बढ़े कोरोना के मामले, पीएम मोदी ने की उद्धव ठाकरे से बात

उन्होंने कहा, युवाओं और नागरिकों को हिन्दू राष्ट्र और स्वतंत्रता संग्राम में सावरकर के योगदान की जानकारी दी जानी चाहिए। Also Read - अयोध्या: उद्धव ठाकरे ने कहा- राम मंदिर के लिए देना चाहता हूं 1 करोड़ रुपए, BJP से अलग हुआ हूं, हिंदुत्व से नहीं

गौरतलब है कि 28 मई 1883 को नासिक में जन्मे सावरकर ने  1857  के प्रथम स्वातंत्र्य समर का सनसनीखेज व खोजपूर्ण इतिहास लिखकर ब्रिटिश शासन को हिला कर रख दिया था।  नासिक जिले के कलेक्टर जैकसन की हत्या के लिए नासिक षडयंत्र काण्ड के अंतर्गत इन्हें 7 अप्रैल 1911 को काला पानी की सजा पर सेलुलर जेल भेजा गया जहां वे 1921 तक रहे। 26 फरवरी 1966 को उनकी मृत्यु हो गयी थी।