नई दिल्लीः केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने मंगलवार को कहा कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ( यूजीसी) ने पांच केंद्रीय और 21 राज्य विश्वविद्यालयों सहित 62 उच्च शैक्षणिक संस्थाओं को पूर्ण स्वायत्तता दी है. जिन संस्थाओं को पूर्ण स्वायत्तता दी गई है वे अपनी दाखिला प्रक्रिया, फीस की संरचना और पाठ्यक्रम तय करने के लिए स्वतंत्र होंगे.Also Read - BJP ने पूछा- अमरिंदर सिंह ने सिद्धू पर गंभीर आरोप लगाए, सोनिया गांधी, राहुल, प्रियंका आप चुप क्‍यों?

Also Read - यूनिवर्सिटी और कॉलेजों में 1 अक्टूबर से नया शैक्षणिक सत्र शुरू होगा, एग्‍जाम व एडमिशन के लिए UGC की ये है गाइडलाइंस

जावड़ेकर ने ट्वीट किया कि उदार नियामक व्यवस्था के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच के अनुसार उच्च मानक बनाकर रखने वाली 62 उच्च शैक्षणिक संस्थाओं को यूजीसी की ओर से स्वायत्तता दी गई. Also Read - Modi Cabinet Reshuffle: मंत्रिपरिषद से इस्तीफा देने वालों में से कुछ नेताओं को मिल सकती है संगठन में बड़ी जिम्मेदारी!

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पांच केंद्रीय विश्वविद्यालयों, 21 राज्य विश्वविद्यालयों, 26 निजी विश्वविद्यालयों और 10 अन्य कॉलेजों को स्वायत्त कॉलेज नियमन के तहत स्वायत्तता दी गई है.

अपने विषय से संबंधित विदेशी शिक्षकों को भी छात्र अपने गाइड के तौर पर ले सकेंगे. विश्वविद्यालयों को यह छूट मिलेगी कि वह किसी भी आकादमिक संस्था से जुड़ सकेंगे. इससे विश्वविद्यालयों को बार-बार यूजीसी से परमिशन लेने में छूट मिलेगी. इस सुधार में गुणवत्ता पर जोर दिया है जो गुणवत्ता बरकरार रखेगी उसे स्वायत्तता भी मिलेगी.